Asianet News Hindi

जिस कोरोना वायरस से हो चुकी है 3 हजार मौतें, उससे बचने के लिए ये है स्वामी रामदेव का देसी इलाज

भारत में कोरोना वायरस ने काफी तेजी से पांव फैलाया है। जिससे अब तक 28 मरीज संक्रमित पाए गए हैं। इसको लेकर सरकारों ने गाइडलाइंस जारी किया है। वहीं, बाबा रामदेव ने भी आयुर्वेदिक और देसी उपाय बताए हैं। 

Swami Ramdev's indigenous treatment to avoid  corona virus kps
Author
New Delhi, First Published Mar 4, 2020, 3:33 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. दुनिया भर में कहर बरपाने के बाद कोरोना वायरस अब भारत में भी दस्तक दे चुका है। कोरोना वायरस से अब तक 28 मरीज संक्रमित पाए गए हैं। भारत में कोरोना वायरस ने काफी तेजी से पांव फैलाया है। जिससे 24 घंटे में 28 मरीज चपेटे में आए हैं। जिसके बाद से लोगों के बीच दहशत का माहौल है। इसको लेकर सरकारों ने गाइडलाइंस जारी किया है। वहीं, बाबा रामदेव ने भी आयुर्वेदिक और देसी उपाय बताए हैं। 

बाबा रामदेव भी जानकारों की बात दोहरा रहे हैं और कह रहे हैं कि हर सर्दी, जुकाम कोरोना वायरस नहीं है। उनका कहना है कि जिनका इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर है, उसपर इसके अटैक का खतरा ज्यादा है। उन्होंने कहा कि बचाव के लिए योग जरूरी है। 

बाबा रामदेव ने दिए ये टिप्सः 

रामदेव ने कहा कि वायरस का फिलहाल कोई इलाज नहीं है, लेकिन दिखने वाले लक्षणों के हिसाब से इसका इलाज हो रहा है। रामदेव ने कोरोना को मात देने के लिए उन्होंने ये टिप्स दिए है....

- गिलोए औषधी के डंडे को तुलसी, काली मिर्च और हल्दी के साथ उबालकर पीने से वायरस को खत्म किया जा सकता है। 

-प्रणायाम, कपालभाती और अनुलोम-विलोम कर रोग प्रतिरोधात्मक क्षमता को बढ़ाने के लिए योग करना चाहिए। जिससे कोरोना को हराया जा सकता है। 

-सर्दी, जुकाम दूसरे वायरस से भी होता है। ऐसे में कोरोना को हावी न होने देने के लिए गिलोए औषधी का तुलसी के साथ काढ़ा बनाकर पीएं।

कोरोना से बचने के लिए अन्य उपाय 

- अपने हाथों को पानी और साबुन से अच्छी तरह धोएं। अगर मुमकिन हो तो एल्कोहल बेस्ड हैंड रब के जरिए भी अपने हाथों को अच्छी तरह धोएं।

-अपने मुंह को और नाक को किसी माउथ मास के जरिए ढक कर रखें। खांसते और छींकते समय किसी टिश्यू का इस्तेमाल करें और उसके बाद उसे कूड़ेदान में फेंक दें।

-जिन लोगों को सर्दी और खांसी के लक्षण दिखें, उनके बहुत करीब न जाएं। उनसे 1 मीटर की दूरी से ही बातचीत करें 
 
-अगर आपके बच्चे को सर्दी, खांसी और बुखार और सांस लेने में दिक्कत हो रही है तो तुरंत डॉक्टर के पास इलाज के लिए जाएं।

क्या है कोरोना वायरस

चीन के वुहान शहर से कोरोना वायरस ने जन्म लिया है। यह वायरस निमोनिया से पीड़ित मरीजों में पाया गया था। यह वायरस इंसान से इंसान में फैलने वाला वायरस भी है। कोरोना वायरस पहले ऊंट, बिल्ली, चमगादड़ में मिलता था। अब इंसानों में भी फैलने लगा है। डब्ल्यूएचओ ने इसे नोबेल कोरोना 2019 नाम दिया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios