पाकिस्तान भेज रहा आतंकवाद के लिए धन! अलगाववादी नेता अब्दुल गनी भट से NIA की 8 घंटे पूछताछ में कई खुलासे

| Nov 26 2022, 10:16 PM IST

पाकिस्तान भेज रहा आतंकवाद के लिए धन! अलगाववादी नेता अब्दुल गनी भट से NIA की 8 घंटे पूछताछ में कई खुलासे
पाकिस्तान भेज रहा आतंकवाद के लिए धन! अलगाववादी नेता अब्दुल गनी भट से NIA की 8 घंटे पूछताछ में कई खुलासे
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

एनआईए ने शनिवार को अलगाववादी नेता अब्दुल गनी भट से भी पूछताछ की है। उत्तरी कश्मीर के बोटेंगू गांव के अब्दुल गनी भट को एनआईए ने जम्मू के सेंट्रल इंटेरोगेशन ऑफिस में पूछताछ के लिए बुलाया था। 

Terror funding from Pakistan: हर्रियत कांफ्रेंस के पूर्व अध्यक्ष अब्दुल गनी भट से एनआईए ने शनिवार को आठ घंटे तक पूछताछ की है। पाकिस्तान से टेरर फंडिंग के केस में यह पूछताछ की गई है। भट पर आरोप है कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद फैलाने के लिए उसे पाकिस्तान से धन मुहैया कराया गया है। इसके पहले एनआईए ने पूर्व मंत्री जतिंदर सिंह उर्फ बाबू सिंह को हवाला में अरेस्ट किया था। 

बाबू सिंह की गिरफ्तारी के बाद एनआईए ने कसा शिकंजा

Subscribe to get breaking news alerts

एनआईए ने बीते 9 अप्रैल को नेचर मैनकाइंड फ्रेंडली ग्लोबल पार्टी के अध्यक्ष जतिंदर सिंह उर्फ बाबू सिंह को अरेस्ट किया था। उस पर हवाला से टेरर फंडिंग कनेक्शन का आरोप था। दरअसल, इसके पहले बाबू सिंह के एक सहयोगी को हवाला के 6.90 लाख रुपये के साथ जम्मू में अरेस्ट किया गया था। इसमें बाबू सिंह को नाम आने पर उसके साथ कई लोगों को अरेस्ट किया गया। बीते 24 सितंबर को एनआईए ने जतिंदर सिंह उर्फ बाबू सिंह सहित दो लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी। 

पाकिस्तान से टेरर फंडिंग केस में गनी से भी पूछताछ

इसी केस में एनआईए ने शनिवार को अलगाववादी नेता अब्दुल गनी भट से भी पूछताछ की है। उत्तरी कश्मीर के बोटेंगू गांव के अब्दुल गनी भट को एनआईए ने जम्मू के सेंट्रल इंटेरोगेशन ऑफिस में पूछताछ के लिए बुलाया था। यहां गनी से पूर्व मंत्री जतिंदर सिंह उर्फ बाबू सिंह से फंडिंग के संबंध में पूछताछ की गई। एक एनआईए अधिकारी ने बताया कि आठ घंटे तक इस पूछताछ में जम्मू-कश्मीर में हुई विभिन्न आतंकी घटनाओं के लिए फंडिंग सहित अन्य जरूरी तथ्यों के बारे में जानकारी ली गई। पूछताछ के दौरान अलगावादी नेता ने सीमा पार से घाटी में विभिन्न अलगाववादी नेताओं द्वारा प्राप्त धन के संबंध में कई तथ्यों का खुलासा किया। 

सरकारी कॉलेज के बर्खास्त अध्यापक हैं भट

अलगाववादी नेता अब्दुल गनी भट एक सरकारी कॉलेज में फारसी के अध्यापक थे। लेकिन राज्य में आतंकवाद फैलाने और खत्रा पैदा करने के आरोप में उनको बर्खास्त किया गया था। उन्होंने श्रीनगर के श्री प्रताप कॉलेज में फारसी, अर्थशास्त्र और राजनीति विज्ञान का अध्ययन किया। इसके बाद उन्होंने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में फारसी और कानून में पीजी किया।

यह भी पढ़ें:

डॉ.सत्येंद्र जैन को तिहाड़ जेल में नहीं मिलेगा स्पेशल खाना, धार्मिक आस्था के अनुरूप भोजन मांग रहे थे मंत्री

दिल्ली एक्साइज केस चार्जशीट: मनीष सिसोदिया का नाम होगा शामिल? डिप्टी सीएम के कटाक्ष के बाद ED ने दी जानकारी

MCD elections: आम आदमी पार्टी करेगी 1000 नुक्कड़ सभाएं, म्यूजिकल व मैजिकल शो से लोगों को समझाएगी 10 गारंटी