Asianet News HindiAsianet News Hindi

PM-KISAN: मोदी ने किसानों से कहा-'हमें तय करना है कि अगले 25 वर्षों में भारत को कहां देखना चाहते हैं'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi) के तहत 9.75 करोड़ से अधिक किसानों के खाते में राशि ट्रांसफर कर दी। इस मौके पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने पीएम की कार्यशैली को सराहा।
 

The Prime Minister will release the installment of PM Kisan Samman Nidhi
Author
New Delhi, First Published Aug 9, 2021, 9:23 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi) के लाभार्थी किसानों के खाते में आज 9वीं किस्त पहुंच गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किस्त के करीब 19,500 करोड़ रुपए सीधे किसानों के खाते में ट्रांसफर किए। इससे 9.75 करोड़ से अधिक किसानों को लाभ मिला। प्रधानमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये कार्यक्रम से जुड़े। कार्यक्रम में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी मौजूद रहे।

भारत के भविष्य में किसानों की अहम भूमिका
इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा-इस बार देश 75वां स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है। इस अवसर पर हमें तय करना है कि आने वाले 25 वर्षों में भारत को कहां देखना चाहते हैं। 2047 में देश जब आज़ादी के 100 वर्ष पूरे करेगा तब भारत की स्थिति क्या होगी, ये तय करने में हमारी खेती, किसानों की बहुत बड़ी भूमिका है।

कृषि निर्यात में भारत टॉप-10 देशों में
मोदी ने कहा- आज भारत कृषि निर्यात के मामले में पहली बार दुनिया के टॉप-10 देशों में पहुंचा है। कोरोना काल में देश ने कृषि निर्यात के नए रिकॉर्ड बनाए हैं। आज जब भारत की पहचान एक बड़े कृषि निर्यातक देश की बन रही है तब हम खाद्य तेल की ज़रूरतों के लिए आयात पर निर्भर रहें,ये उचित नहीं।

खाद्य तेलों में भारत आत्मनिर्भर
 मोदी ने कहा-खाद्य तेल में हमारा देश आत्मनिर्भर हो इसके लिए हमें तेज़ी से काम करना है। खाने के तेल में आत्मनिर्भरता के लिए अब राष्ट्रीय खाद्य तेल मिशन-ऑयल पाम का संकल्प लिया गया है। इस मिशन के माध्यम से खाने के तेल से जुड़े इकोसिस्टम पर 11 हज़ार करोड़ रुपये से अधिक का निवेश किया जाएगा।

महामारी में भी रिकॉर्ड उत्पादन
मोदी ने कहा-हमने महामारी के समय में भी भारत के किसानों की ताकत देखी है। रिकॉर्ड उत्पादन के बीच सरकार ने किसानों की कठिनाइयों को कम करने का भी प्रयास किया। बीज और उर्वरक उपलब्ध कराने से लेकर किसानों को उनकी उपज को मंडियों तक पहुंचाने में मदद करने के लिए सरकार ने सभी प्रयास किए।

ताेमर ने की पीएम की तारीफ
कार्यक्रम के शुरुआत में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ की। उन्होंने कहा-राष्ट्र इस बात का गवाह है कि पीएम मोदी देश के सर्वांगीण विकास के लिए लगातार काम कर रहे हैं। इस साल जब ओलंपिक होने वाले थे तो उससे पहले उन्होंने खिलाड़ियों और खिलाड़ियों से चर्चा की, उनका हौसला बढ़ाया। तोमर ने कहा-खिलाड़ियों के परिश्रम, समर्पण और प्रधानमंत्री के प्रोत्साहन के परिणामस्वरूप भारत को ओलंपिक में अनेक पदक प्राप्त हुए हैं। ओलंपिक के इतिहास में ये भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

किसानों को मिलते हैं 6000 रुपए सालाना
प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि से जुड़े किसानों को हर साल 6000 रुपए दिए जाते हैं। इसका मकसद गरीब किसानों को आर्थिक मदद देना है। यह मदद तीन किस्तों में दी जाती है। यानी हर तीन महीने में 2000 रुपए किसानों के खाते में ट्रांसफर किए जाते हैं। अभी तक इस योजना के तहत सरकार करीब 1,37,192 करोड़ रुपए किसानों को ट्रांसफर कर चुकी है। अभी तक किसानों को 8 किस्त मिल चुकी हैं। इससे पहले 14 मई को यह किस्त जारी की गई थी।

ऐसे कर सकते हैं चेक
बता दें कि राज्य सरकारों ने  Rft (Request For Transfer) Sign कर दिया है। इसके साथ ही केंद्र सरकार ने Fto (Fund Transfer Order) जनरेट दिया है। यानी किसानों के खाते में Rft Signed by State For 8th Installment  स्‍टेट्स लिखा देखा जा सकता है। PMkisan.gov.in पर किसान अपने खाते में Login करके डिटेल देख सकते हैं। जैसे ही किसान लॉगइन करेंगे, उन्हें फार्मर कार्नर में Beneficiary List के ऑप्शन पर जाकर क्लिक करना होगा। यहां राज्य, जिला, उप जिला, ब्लॉक को चुनना होगा। यहां  Get Report पर क्लिक करते ही पूरी लिस्ट आ जाएगी।

पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम के लाभ
इस स्कीम से जुड़े किसानों को केंद्र सरकार सस्ते रेट पर लोन उपलब्ध कराती है। यह लोन आत्मनिर्भर भारत योजना (Atmanirbhar Bharat Yojana) के अंतर्गत किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) पर दिया जाता है। जो किसान KCC बनवाना चाहते हैं वे  कॉपरेटिव बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया और इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया में अप्‍लाई कर सकते हैं।

कल उज्जवला योजना का दूसरा चरण
गरीबों को सरकारी योजना का लाभ पहुंचाने के मकसद से 10 अगस्त को उज्जवला योजना का दूसरा चरण भी होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कल दोपहर 12:30 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उत्तर प्रदेश के महोबा में एलपीजी कनेक्शन सौंपकर उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण (प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना - पीएमयूवाई) का शुभारंभ करेंगे। इस कार्यक्रम के दौरान, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों से बातचीत करेंगे और राष्ट्र को संबोधित भी करेंगे। उज्ज्वला योजना वर्ष 2016 में शुरू की गई थी। उज्ज्वला योजना 1.0 के दौरान, गरीबी रेखा से नीचे जीवन बसर करने वाले परिवारों की 5 करोड़ महिला सदस्यों को एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया था। इसके बाद, अप्रैल 2018 में इस योजना का विस्तार कर इसमें सात और श्रेणियों (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति, पीएमएवाई, एएवाई, अत्यंत पिछड़ा वर्ग, चाय बागान, वनवासी, द्वीप समूह) की महिला लाभार्थियों को शामिल किया गया। साथ ही, इसके लक्ष्य को संशोधित कर 8 करोड़ एलपीजी कनेक्शन कर दिया गया। इस लक्ष्य को निर्धारित तिथि से सात महीने पहले अगस्त 2019 में ही हासिल कर लिया गया।


यह भी पढ़ें
महामारी के बीच किसानों को मिला ' PM सम्मान निधि' का पैसा, कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ कड़े एक्शन में मोदी
#MyHandloomMyPride: मोदी ने कुछ पुरानी तस्वीरें tweet करके लोगों से पूछा-बताइए ये क्या है
10 अगस्त को पीएम मोदी शुरू करेंगे उज्जवला योजना का दूसरा चरण, इस बार इन्हें मिलेगा लाभ

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios