Asianet News HindiAsianet News Hindi

Tripura violence: TMC और BJP के बीच तलवारें खिंचीं, ममता बनर्जी दिल्ली में; सुप्रीम कोर्ट में भी आज सुनवाई

त्रिपुरा(Tripura) में TMC कार्यकर्ताओं को पुलिस थाने में BJP कार्यकर्ताओं द्वारा कथित तौर पर पीटने का मामला राजनीति तूल पकड़ता जा रहा है। ममता बनर्जी दिल्ली में हैं। वहीं, इस मामले में आज सुप्रीम कोर्ट(Supreme Cour) में भी सुनवाई होगी।

Tripura violence and politics, Mamata Banerjee reaches Delhi, hearing in Supreme Court KPA
Author
New Delhi, First Published Nov 23, 2021, 7:21 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी(Mamata Banerjee) सोमवार शाम को दिल्ली पहुंचीं। वे कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर सकती हैं। त्रिपुरा(Tripura) में TMC कार्यकर्ताओं को पुलिस थाने में BJP कार्यकर्ताओं द्वारा कथित तौर पर पीटने का मामला राजनीति तूल पकड़ता जा रहा है। 22 नवंबर को TMC सांसदों ने गृहमंत्रालय के सामने धरना दिया था। वे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) से मिलना चाहते थे, लेकिन उन्हें समय नहीं दिया गया। हालांकि बाद में उनसे मुलाकात हुई। शाह ने इस मामले में त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देव से राजनीतिक हिंसा की घटनाओं की जानकारी मांगी है।

BSF का अधिकार क्षेत्र बढ़ाए जाने का भी विरोध कर रहीं ममता
ममता बनर्जी दो मुद्दों को लेकर दिल्ली पहुंचीं। पहला त्रिपुरा में कथिततौर पर TMC कार्यकर्ताओं की पिटाई और दूसरा BSF का अधिकारी क्षेत्र बढ़ाए जाने का का मामला। दिल्ली पहुंचने पर ममता बनर्जी ने कहा कि अगरतला के एक पुलिस थाने में भाजपा कार्यकर्ताओं ने TMC कार्यकर्ताओं को लाठी-डंडों से जमकर पीटा। उनके ऊपर पथराव भी किया।

यह है पूरा मामला
रविवार को टीएमसी कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया था कि त्रिपुरा के अगरतला के एक पुलिस स्टेशन में सत्तारूढ़ भाजपा के कार्यकर्ताओं ने TMC के कार्यकर्ताओं को पीटा। टीएमसी के मुताबिक, त्रिपुरा पुलिस उस होटल में पहुंची, जहां पार्टी नेता (TMC Youth wing President) सायोनी घोष (Saayoni Ghosh) ठहरी थीं और उन्हें पूछताछ के लिए थाने बुलाया। उन्होंने कथित तौर पर यह नहीं बताया कि पूछताछ किस मामले के बारे में थी। इसके बाद सायोनी घोष और कुणाल घोष समेत टीएमसी के कुछ अन्य नेता अगरतला थाने पहुंचे। टीएमसी ने आरोप लगाया है कि कुछ मिनट बाद जब सायोनी घोष पूछताछ के लिए गई, तो करीब 25 भाजपा कार्यकर्ता हेलमेट और लाठियां लिए हुए पहुंचे और थाने के अंदर टीएमसी कार्यकर्ताओं पर हमला करने लगे। उन्होंने बताया कि घटना में तृणमूल कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ता घायल हो गए। टीएमसी नेता कुणाल घोष ने कहा कि त्रिपुरा में 'जंगल राज' है। उन्होंने कहा, "हमें पुलिस के सामने पीटा गया लेकिन उन्होंने कुछ नहीं कहा। इसके विपरीत, हम पर ही मामला दर्ज किया जा रहा है और परेशान किया जा रहा है।"

Saayoni Ghosh जमानत पर रिहा
टीएमसी यूथ विंग (Trinamool Youth Congress) की अध्यक्ष सायोनी घोष (Saayoni Ghosh) को जमानत मिल गई है। पश्चिम त्रिपुरा में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट अदालत ने अभिनेता और टीएमसी नेता सायोनी घोष को जमानत दे दी है। अगरतला पुलिस ने रविववार को घोष को हत्या के प्रयास और उकसाने के आरोप में गिरफ्तार किया था। बीजेपी ने अपने कार्यकर्ताओं को कुचलने का आरोप टीएससी यूथ विंग की अध्यक्ष सायोनी घोष पर लगाया था। सायोनी घोष पर एफआईआर दर्ज कर रविवार को अगरतला पुलिस (Agartala Police) ने अरेस्ट भी कर लिया था। 

यह भी पढ़ें
Tripura विवाद: Saayoni Ghosh जमानत पर रिहा, त्रिपुरा पुलिस ने किया था अरेस्ट
Andhra Pradesh में तीन-तीन राजधानियों के प्रस्ताव वाले बिल को वापस लिया गया, सीएम जगन बोले-नई बिल लाएंगे
Tripura Case: पुलिस पर बर्बरता का आरोप; TMC सांसदों ने गृहमंत्रालय के सामने दिया धरना, नहीं मिले अमित शाह


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios