Asianet News HindiAsianet News Hindi

LOC पर घुसपैठ की दो कोशिश नाकाम, पकड़े गए आतंकी ने बताया पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ने 30 हजार रुपए देकर भेजा

जम्मू-कश्मीर के नौशेरा में भारतीय सेना के जवानों ने घुसपैठ की दो कोशिशों को नाकाम कर दिया। एक आतंकी जिंदा पकड़ा गया है। उसने बताया कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ने उसे घुसपैठ के लिए भेजा था। 
 

Two infiltration Bids Foiled by Indian Army in Naushera Sector vva
Author
First Published Aug 24, 2022, 9:30 PM IST

जम्मू। जम्मू-कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में एलओसी (Line of Control) पर भारतीय सेना के जवानों ने पाकिस्तान की ओर से किए जा रहे घुसपैठ की दो कोशिशों को नाकाम कर दिया है। राजौरी जिले का यह इलाका घुसपैठ के लिए काफी संवेदनशील रहा है। 

21 अगस्त को अहले सुबह नौशेरा के झंगर सेक्टर में तैनात जवानों ने एलओसी के पार तीन आतंकियों की गतिविधी को देखा था। आतंकियों में से एक भारतीय पोस्ट के करीब पहुंचा और फेंस काटने की कोशिश की। भारतीय सैनिकों ने चुनौती दी तो वह भागने लगा। इस दौरान जवानों ने गोली चलाई। गोली लगते ही वह जमीन पर गिर गया। उसके पीछे छिपे दो आतंकी जंगली इलाके का फायदा उठाते हुए वापस पाकिस्तान की ओर भाग गए। 

पाकिस्तान खुफिया एजेंसी ने भेजा
बाद में जवानों ने घायल आतंकी को जिंदा पकड़ लिया और इलाज के लिए उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने सर्जरी कर उसकी जान बचा ली। पकड़े गए आतंकी ने अपनी पहचान बताई। उसने कहा कि उसका नाम तबारक हुसैन है। वह पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के कोटली जिला के सब्जकोट गांव का रहने वाला है। 

पूछताछ के दौरान आतंकी ने बताया कि वह भारतीय सेना के पोस्ट पर हमला करने के लिए घुसपैठ कर रहा था। उसे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के कर्नल यूनुस चौधरी ने 30 हजार पाकिस्तानी रुपए दिए थे। तबारक ने यह भी खुलासा किया कि उसने अन्य आतंकवादियों के साथ भारतीय अग्रिम चौकियों की दो-तीन बार रेकी की थी ताकि सही समय पर उन्हें निशाना बनाया जा सके।

Two infiltration Bids Foiled by Indian Army in Naushera Sector vva

पहले भी पकड़ा गया था तबारक हुसैन 
21 अगस्त 2022 को कर्नल यूनुस चौधरी ने आतंकियों को भारत में घुसपैठ करने का आदेश दिया था। तबारक हुसैन को भारतीय सेना ने 2016 में उसके भाई हारून अली के साथ पकड़ा था। नवंबर 2017 में उसे मानवीय आधार पर पाकिस्तान भेज दिया गया था। 

यह भी पढ़ें- IAF Top Guns: जानें USAF से ट्रेंड भारतीय फाइटर पायलट्स की अनटोल्ड स्टोरी

घुसपैठ की दूसरी कोशिश 22/23 अगस्त 2022 की दरम्यानी रात हुई थी। दो या तीन आतंकियों के एक समूह ने नौशेरा के लाम सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश की थी। सीमा की रक्षा कर रहे सतर्क जवानों ने आतंकियों को एलओसी की ओर बढ़ते देख लिया था। भारतीय सेना ने एलओसी के पास लैंड माइन्स लगा रखे थे। तीन में से दो आतंकी लैंड माइन्स धमाके की चपेट में आकर मारे गए। एक आतंकी घायल हो गया और पाकिस्तान की ओर भाग गया। आतंकियों के पास से भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद किया गया है।

यह भी पढ़ें-  मुफ्त की रेवड़ियों को सुप्रीम कोर्ट ने बताया गंभीर मुद्दा, कहा- केंद्र सरकार क्यों नहीं बुला रही सर्वदलीय बैठक

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios