Asianet News Hindi

UP: नेहरू एजुकेशनल सोसाइटी फर्ज़ीवाड़े मामले में कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने आर्थिक अपराध शाखा को लिखा पत्र

 राहुल गांधी की करीबी और उत्तर प्रदेश में रायबरेली सदर से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने सोमवार को नेहरू एजुकेशनल सोसाइटी फर्ज़ीवाड़े के मामले में आर्थिक अपराध शाखा को पत्र लिखा है। बता दें कि इस मामले में वे सीएम योगी से भी मदद मांग चुकीं हैं और सीएम की तारिफ भी कर चुकीं हैं। 

UP Congress MLA Aditi Singh wrote letter to Economic Offenses Wing in the Nehru Educational Society forgery case
Author
Raebareli, First Published Nov 2, 2020, 8:04 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रायबरेली. राहुल गांधी की करीबी और उत्तर प्रदेश में रायबरेली सदर से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने सोमवार को नेहरू एजुकेशनल सोसाइटी फर्ज़ीवाड़े के मामले में आर्थिक अपराध शाखा को पत्र लिखा है। बता दें कि इस मामले में वे सीएम योगी से भी मदद मांग चुकीं हैं और सीएम की तारिफ भी कर चुकीं हैं। लेकिन वर्तमान में स्थिति पर कुछ कार्यवाही ना होती देख उन्होंने इसके लिए अपराध शाखा को पत्र लिखा है। 

पत्र में क्या कहा अदिति ने?
अपराध शाखा को लिखे अपने पत्र को अदिति ने ट्वीटर पर शेयर करते हुए लिखा कि 'बच्चियों की पढ़ाई को बढ़ावा देने के नाम पर ज़मीन ली गयी, दशकों बाद भी उसका कोई इस्तेमाल नहीं किया। और अब उस जमीन को करोड़ो में बेचने की फिराक में हैं। कमला नेहरू एजुकेशनल सोसाइटी के उस फर्ज़ीवाड़े और भारी पैसे की गड़बड़ी की जांच के लिए मैने आज आर्थिक अपराध शाखा को पत्र लिखा है।'

सीएम योगी ने दिया था आश्वासन
दरअसल, रायबरेली के सिविल लाइन में कमला नेहरू ट्रस्ट की जमीन पर से पटरीवालों को हटाए जाने के मामले को लेकर अदिति सिंह ने यह पत्र आर्थिक अपराध शाखा को लिखा है। बता दें कि इस मामले में वे राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारिफ भी कर चुकीं हैं। उन्होंने अगस्त माह में कहा था कि 'मैं खुले मुंह से कहना चाह रही हूं कि जो दुकानें बची हैं वह मेरे राजनीतिक गुरु और हमारे माननीय मुख्यमंत्री महाराज योगी आदित्यनाथ की वजह से है। उनकी वजह से हम यह लड़ाई लड़ रहे हैं। विधायक अदिति सिंह ने कहा था कि जब यह मामला सीएम योगी के संज्ञान में आया तब उन्होंने कहा था कि कि वे पूरी तरीके से इसकी जांच कराएंगे। जो भी होगा न्याय होगा। उन्होंने मुझे त्वरित कार्रवाई का आश्वासन दिया था।'
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios