Asianet News Hindi

6 साल बड़े दोस्त को याद करते भावुक हुए उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू

 राज्यसभा में उपसभापति वेंकैया नायडू सहित सभी सदस्यों ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री एस जयपाल रेड्डी को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान उन्हें याद करते हुए वेंकैया नायडू भावुक हो गए। बता दें, 77 साल के जयपाल सिंह रेड्डी का निधन रविवार को हो गया था। 

Vice president get emotional remembrance of jaypal reddy
Author
New Delhi, First Published Jul 29, 2019, 5:25 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. राज्यसभा में उपसभापति वैंकेया नायडू सहित सभी सदस्यों ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री एस जयपाल रेड्डी को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान उन्हें याद करते हुए वैंकेया नायडू भावुक हो गए। बता दें, 77 साल के जयपाल सिंह रेड्डी का निधन रविवार को हो गया था। उपसभापति ने कहा- उनका जाना मेरे लिए दुखदायी है। वे मेरे अच्छे दोस्त, सीनियर सहयोगी और मार्गदर्शक थे।  वहीं पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने उन्हें एक कुशल प्रशासक बताते हुए श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा- कांग्रेस के वरिष्ठ नेता के जाने से दुखी हूं। उनका जाना देश के लिए बड़ा नुकसान है। वह गरीबों और दबे कुचलों के नेता थे। 


ब्रेकफास्ट वाले दोस्त थे रेड्डी: नायडू

उपसभापति वैंकेया नायडू जयपाल रेड्डी को याद करते हुए भावुक हो गए। उन्होंने कहा- मैं अपने आपको भावुक होने से रोक नहीं पाया, क्योंकि हमारी 40 साल पुरानी दोस्ती थी। मुझे आंध्रप्रदेश के दो कार्यकाल में उनके साथ कार्य करने का मौका मिला। हम दोनों अक्सर सभा की कार्यवाही शुरू होने से पहले कई मुद्दों पर सुबह नाश्ते करते वक्त अक्सर चर्चा करते थे। उस समय सदन 8 बजे शुरू होता था। हम दोनों 7 बजे एक दूसरे से मिलने और एक साथ नाश्ता करने पहुंच जाया करते थे। जयपाल रेड्डी एक विद्वान, उन्हें हर मुद्दे की गहराई तक समझ और हर भाषा में दक्षता हासिल थी। 


4 विधायक विधायक और 5 बार सांसद चुने गए

रेड्डी का जन्म 16 जनवरी 1942 को हैदराबाद में हुआ था। उन्होंने राजनीतिक करियर की शरूआत आंध्रप्रदेश के यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष से शुरू की थी। वे 4 बार विधायक और 5 बार सांसद चुने गए। उन्होंने गुजराल सरकार में साल 1998 को सूचना और प्रसारण मंत्री की जिम्मेदारी निभाई थी। 1998 में उन्हें सर्वश्रेष्ट सांसद चुना गया था। यूपीए -1 में उन्हें शहरी विकास मंत्रालय और यूपीए-2 में शहरी विकास के अलावा पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios