Asianet News Hindi

Koo app: जानिए क्या है इस ऐप में जो इसे देसी ट्विटर बताया जा रहा, केंद्रीय मंत्री भी बना रहे अकाउंट

मार्केट में एक नई ऐप आई है नाम है Koo app। सोशल मीडिया की दुनिया में KOO ने काफी धमाल मचा रखा है। यहां तक की इसे देसी ट्विटर कहा जा रहा है। यहां तक की केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल से लेकर रविशंकर प्रसाद समेत तमाम नेता और सेलिब्रिटीस इस पर अकाउंट बना रहे हैं। इस ऐप पर कई सारे वेरीफाइड सरकारी हैन्डल भी मौजूद हैं। 

What is Koo app the Indian alternative to Twitter Who is behind it KPP
Author
New Delhi, First Published Feb 10, 2021, 8:04 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. मार्केट में एक नई ऐप आई है नाम है Koo app। सोशल मीडिया की दुनिया में KOO ने काफी धमाल मचा रखा है। यहां तक की इसे देसी ट्विटर कहा जा रहा है। यहां तक की केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल से लेकर रविशंकर प्रसाद समेत तमाम नेता और सेलिब्रिटीस इस पर अकाउंट बना रहे हैं। इस ऐप पर कई सारे वेरीफाइड सरकारी हैन्डल भी मौजूद हैं। 

क्या है KOO ऐप
KOO ट्विटर की तरह एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है। इस पर एक दूसरे को लोग फॉलो कर सकते हैं। फोटो, ऑडियो, वीडियो शेयर कर सकते हैं। पोल कर सकते हैं। इसके अलावा इसमें डायरेक्ट मैसेज भी भेजे जा सकते हैं। यह ऐप इंग्लिश, हिंदी, कन्नड, तमिल, तेलुगु और मराठी भाषाओं में भी मौजूद है। 

किसने और कब बनाया ऐप?
KOO ऐप पिछले साल यानी 2020 में बनाया गया था। इसके फाउंडर अप्रम्या राधाकृष्ण और मयंक बिदावत्क हैं। इन दोनों ने पहले taxi for sure और Red bus जैसे ऐप भी बनाए हैं। KOO ऐप ने अगस्त 2020 में सोशल कैटेगरी में आत्मनिर्भर ऐप चैलेंज जीता था। वहीं, अब कई केंद्रीय मंत्रियों और प्रमुख हस्तियों के इसे डाउनलोड करने से इसके डाउनलोड काफी ज्यादा बढ़ गए हैं। 

कैसे डाउनलोड करें KOO ऐप?
KOO ऐप एंड्रॉयड और आईओएस दोनों प्लेटफॉर्म्स पर उपलब्ध है। इसे गूगल प्ले स्टोर या ऐपल स्टोर पर जाकर डाउनलोड किया जा सकता है। इतना ही नहीं कंप्यूटर पर चलाने के लिए इसे KOOapp.com पर लॉगिन कर सकते हैं। 

क्या सरकार और ट्विटर के बीच तनातनी का मिल रहा फायदा ?
सवाल ये है कि अचानक से इस ऐप पर इतना रुझान क्यों बढ़ गया। माना जा रहा है कि इस देसी ट्विटर को सरकार और ट्विटर के बीच तनातनी का फायदा मिलता दिख रहा है। दरअसल, हाल ही में सरकार ने ट्विटर से किसान आंदोलन को लेकर विवादित ट्विटर अकाउंट्स हटाने के लिए कहा था। इन अकाउंट्स से माहौल बिगाड़ने वाले ट्वीट किए गए थे। ट्विटर ने पहले इन पर रोक लगा दी। लेकिन बाद में इसे हटा दिया। इसके बाद सरकार ने ट्विटर को चेतावनी दी थी कि अगर ये अकाउंट्स नहीं हटाए गए तो कार्रवाई की जाएगी। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios