Asianet News Hindi

सुशांत की whatsapp chat से बड़ा खुलासा, मौत से 24 दिन पहले हुआ था खुद के पैसों के गलत इस्तेमाल का शक

सुशांत सिंह राजपूत केस में रिया के भाई शोविक से नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो पूछताछ कर रही है। इस बीच सुशांत सिंह राजपूत और उनके बैंक मैनेजर की 20 मई 2020 की एक चैट सामने आई है, जिसमें दिख रहा है कि सुशांत अपने फाइनेंस चार्ज खुद के हाथ में लेना चाह रहे थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सुशांत सिंह अपने उस नंबर को बदलना चाहते थे। 

Whatsapp chat of Sushant Singh Rajput and bank manager revealed kpn
Author
Mumbai, First Published Sep 4, 2020, 4:09 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली/मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत केस में रिया के भाई शोविक से नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो पूछताछ कर रही है। इस बीच सुशांत सिंह राजपूत और उनके बैंक मैनेजर की 20 मई 2020 की एक चैट सामने आई है, जिसमें दिख रहा है कि सुशांत अपने फाइनेंस चार्ज खुद के हाथ में लेना चाह रहे थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सुशांत सिंह अपने उस नंबर को बदलना चाहते थे, जो बैंक अकाउंट से लिंक था। 14 जून को सुशांत का शव मिला। यानी 24 दिन पहले ही सुशांत को अपने पैसों को लेकर कुछ शक हुआ था। 

कम से कम एम्स की रिपोर्ट आने में लगेंगे 2 हफ्ते
इस बीच एम्स ने सुसाइड एंगल की जांच की खबर का खंडन किया। फॉरेंसिक टीम के सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि एम्स की रिपोर्ट में कम से कम 2 हफ्ते लगेंगे। मीडिया में बताई गई कोई अन्य रिपोर्ट झूठी है। हमारी प्रारंभिक रिपोर्ट में कम से कम 2 हफ्ते लगेंगे। 

कथित तौर पर ड्रग पेडलर बासित की एनसीबी हिरासत 9 सितंबर तक बढ़ाई गई है। एनसीबी टीम उससे फिर से पूछताछ करेगी। एनसीबी शोविक और सैमुअल मिरांडा से भी पूछताछ कर रही है।

गूगल पे के जरिए होता था ड्रग्स का पेमेंट
अब्दुल बासित परिहार ने कोर्ट में बताया, वह जैद विलात्रा और कैजान इब्राहिम से शोविक के कहे अनुसार ड्रग्स खरीदता था। ड्रग्स को सैमुअल मिरांडा को देने के लिए कह रहा था। कुछ सबूतों के आधार पर पता चला है कि बासित एक ड्रग सिंडिकेट का सक्रिय सदस्य है और बड़ी पार्टियों में ड्रग्स सप्लाई करता है। गूगल पे के जरिए पैसे का भुगतान किया जाता है।

सुशांत सिंह राजपूत केस में रिया चक्रवर्ती के भाई शोविक पर एनसीबी का शिकंजा कसता जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ड्रग पेडलर बासित का शोविक के घर आना जाना था। दो साल से दोनों एक दूसरे को जानते थे। बासित और शोविक की मुलाकात बांद्रा के एक फुटबॉल क्लब में हुई। यह वही जगह है जहां पर कैजान इब्राहिम फुटबॉल खेलने के लिए आता था। बासित ने फुटबॉल मैच में प्रेक्टिस के दौरान शोविक से दोस्ती की फिर ड्रग डीलिंग का काम शुरू कर दिया।

 

"

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios