जेनेवा. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने एक बार फिर कोरोना के खिलाफ भारत के प्रयासों की तारीफ की है। WHO ने कहा, भारत में कोरोना का संक्रमण तेजी से नहीं फैल रहा है। लेकिन इसका खतरा अभी भी बना हुआ है। इसलिए अभी सतर्क रहने की जरूरत है। भारत में कोरोना के 2.36 लाख केस सामने आ चुके हैं। जबकि 6649 लोगों की मौत हो चुकी है। 

WHO के स्वास्थ्य आपदा कार्यक्रम के कार्यकारी निदेशक डॉ माइकल रियान ने शुक्रवार को कहा, भारत में कोरोना के मामले तीन हफ्ते में दोगुना हो रहे हैं। लेकिन ये मामले लगातार बढ़ रहे हैं। 

कोरोना का खतरा अभी जारी
डॉ रियान ने कहा, भारत के अलावा बांग्लादेश, पाकिस्तान और दक्षिण एशिया में घनी आबादी वाले देश में अभी महामारी के मामले तेजी से नहीं आए हैं। लेकिन अभी भी खतरा बना हुआ है। रियान के मुताबिक, अगर इन देशों में सामुदायिक स्तर पर संक्रमण होता है, तो यह तेजी से फैलेगा। 

भारत के पास विकल्प कम
रियान ने कहा, भारत में अनलॉक शुरू हो गया है। लोगों ने घर से बाहर जाना शुरू कर दिया है। ऐसे में संक्रमण बढ़ने का खतरा बना हुआ है। प्रवासियों की अधिक संख्या, शहरी भीड़ भाड़  और रोजाना काम पर जाने की मजबूरी के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं होने जैसे मुद्दे भी हैं। 
 
आयुष्मान भारत योजना की तारीफ की
WHO ने आयुष्मान भारत योजना की तारीफ की। उन्होंने कहा, इसे तेजी से लागू किया जाए तो कोरोना से निपटने में मदद मिलेगी। WHO के चीफ तेद्रोस गेब्रियेसस ने कहा, कई देशों के सामने महामारी एक गंभीर चुनौती है। लेकिन अब मौके भी तलाशने होंगे। भारत के लिए ये आयुष्मान भारत योजना को बढ़ाने का मौका हो सकता है।
 
आबादी के हिसाब से भारत मे केस ज्यादा नहीं
WHO की वैज्ञानिक सौम्या स्वामिनाथन ने कहा, भारत में मामले बढ़ रहे हैं। लेकिन 130 करोड़ की आबादी के हिसाब से यह बहुत ज्यादा नहीं हैं। लेकिन भारत को संक्रमण बढ़ने की दर और दोगुने होने की रफ्तार पर नजर बनाए रखनी होगी।