Asianet News HindiAsianet News Hindi

Monsoon Update: विदाई से पहले दिल्ली को राहत, नोएडा में तेज बारिश के अलर्ट के बाद 1-8 तक के स्कूलों में छुट्टी

पूरी तरह से विदा होने से पहले  दक्षिण-पश्चिम मानसून ने दिल्ली को राहत की सांस दी है। इस बीच मौसम विभाग ने कई राज्यों में मध्यम से भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। नोएडा में तो स्कूलों की छुट्टी तक करनी पड़ी है।

withdrawal of southwest monsoon Heavy rain alert in many states, schools from 1st to 8th closed in Noida kpa
Author
First Published Sep 23, 2022, 8:19 AM IST

मौसम डेस्क. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने आजकल में  ईस्ट राजस्थान, उत्तर प्रदेश के पश्चिमी भाग, मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ और ओडिशा के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कहीं-कहीं भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। सिक्किम, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, अंडमान और निकोबार द्वीप और उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। दिल्ली में 26 सितंबर तक हल्की से मध्यम बारिश की संभावना जताई गई है। अनुमान लगाया जा रहा है कि 28-29 सितंबर के आसपास दिल्ली-एनसीआर में मानसूनी बारिश होती रहेगी। इस बीच गुरुग्राम, नोएडा-ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद में 8वीं क्लास तक की शुक्रवार को छुट्टी कर दी गई है। वहीं, गुरुग्राम में डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने जिले के सभी कार्पोरेट और प्राइवेट दफ्तरों में वर्क फ्रॉम होम की सलाह दी है। (पहली तस्वीर गुरुग्राम की है)

शेष उत्तर भारत, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, शेष उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। जम्मू कश्मीर, पंजाब, हरियाणा, गंगीय पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, तटीय कर्नाटक, केरल के कुछ हिस्सों में और लक्षद्वीप में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश संभव है। बता दें कि दक्षिण-पश्चिम मानसून(south-west monsoon) ने दक्षिण-पश्चिम राजस्थान के कुछ हिस्सों और गुजरात के कच्छ से पीछे हटना शुरू कर दिया है। यानी मानसून की वापसी शुरू हो गई है। 

बारिश के नोएडा में 1-8 तक के बंद रहेंगे
नोएडा और ग्रेटर नोएडा में आठवीं कक्षा तक के सभी सरकारी और निजी स्कूल शुक्रवार को बारिश के कारण बंद रहेंगे। डिस्ट्रिक स्कूल इंसपेक्टर धर्मवीर सिंह ने बताया कि मौसम विभाग ने क्षेत्र में बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया है, जिसके बाद कलेक्टर सुहास एल यथराज ने स्कूलों को बंद करने का आदेश जारी किया। गौतम बौद्ध नगर सहित उत्तर प्रदेश और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के कुछ हिस्सों में गुरुवार और इससे पहले सप्ताह में भारी बारिश हुई। राज्य के कुछ इलाकों में बारिश के कारण जान-माल के नुकसान की भी खबर है। 

withdrawal of southwest monsoon Heavy rain alert in many states, schools from 1st to 8th closed in Noida kpa

(नोएडा में बारिश)

दिल्ली के लिए यलो अलर्ट
दिल्ली में गुरुवार को लगातार दूसरे दिन हुई हल्की से मध्यम बारिश के कारण कई इलाकों में जलभराव हो गया और शहर की प्रमुख सड़कों पर ट्रैफिक प्रभावित हुआ। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने भी शुक्रवार को शहर के अधिकांश स्थानों पर मध्यम बारिश के बारे में लोगों को आगाह करते हुए 'येलो अलर्ट' जारी किया। पालम वेधशाला ने भारी बारिश की सूचना दी है। यानी सुबह 8:30 से रात 8:30 बजे के बीच 81 मिमी। 15 मिमी से नीचे दर्ज की गई वर्षा को हल्का माना जाता है। 15 से 64.5 मिमी के बीच मध्यम, 64.5 मिमी और 115.5 मिमी के बीच भारी, जबकिक 115.6 और 204.4 के बीच बहुत भारी बारिश होती है। 204.4 मिमी से ऊपर की अत्यधिक भारी वर्षा मानी जाती है।

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से मानसून की वापसी से ठीक पहले हुई ताजा बारिश से बड़े घाटे (22 सितंबर की सुबह तक 46 फीसदी) को कुछ हद तक पूरा करने में मदद मिलेगी। इससे हवा भी साफ रहेगी और तापमान भी नियंत्रित रहेगा। शहर का न्यूनतम तापमान 23.8 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान सामान्य से सात डिग्री कम 28 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 24 घंटे का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक बुधवार को 109 से सुधरकर शाम 4 बजे 66 (संतोषजनक श्रेणी) पर आ गया। अगस्त में 41.6 मिमी बारिश दर्ज की गई थी, जो कम से कम 14 वर्षों में सबसे कम थी, जो उत्तर पश्चिम भारत में किसी भी अनुकूल मौसम प्रणाली की अनुपस्थिति के कारण थी।
कुल मिलाकर, दिल्ली में 1 जून के बाद से सामान्य रूप से 621.7 मिमी के मुकाबले 405.3 मिमी बारिश दर्ज की गई है।

आईएमडी ने मंगलवार को कहा कि दक्षिण-पश्चिम मानसून 17 सितंबर की सामान्य तारीख के तीन दिन बाद दक्षिण-पश्चिम राजस्थान और उससे सटे कच्छ के कुछ हिस्सों से वापस आ गया है। आमतौर पर पश्चिमी राजस्थान से मानसून हटने के एक हफ्ते बाद दिल्ली से इसकी वापसी होती है। दक्षिण-पश्चिम मानसून की वापसी की घोषणा की जाती है यदि क्षेत्र में पांच दिनों तक वर्षा नहीं होती है, साथ ही एंटी-साइक्लोनिक सर्कुलेशन का विकास होता है और शुष्क मौसम हो जाता है।

पिछले दिन इन राज्यों में दर्ज की गई बारिश
स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार, मध्य प्रदेश के कई हिस्सों, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तरी पंजाब और हरियाणा में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई। पूर्वोत्तर राजस्थान और आंतरिक ओडिशा में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हुई। दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश के शेष हिस्सों, छत्तीसगढ़, तटीय आंध्र प्रदेश, ओडिशा के उत्तरी तट, पूर्वी असम, अरुणाचल प्रदेश अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और दमन में हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई। बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, पूर्वोत्तर भारत, तेलंगाना के कुछ हिस्सों, महाराष्ट्र, केरल और तटीय कर्नाटक में हल्की बारिश हुई।

यह भी पढ़ें
ये है दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर, इस हवा में सांस लेने से हर साल मरते हैं 70 लाख लोग, Alert करती न्यूज
World's Biggest Killer: कोरोना नहीं, हर साल दुनिया में 41 मिलियन लोगों की जान ले रहा NCDs, जानिए पूरा मामला

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios