Asianet News Hindi

एशियाई चैम्पियनशिप में चीनी खिलाड़ियों को नहीं मिला वीजा, पर इस वजह से मास्क लगाकर खेल रहे पहलवान

चीन में फैले कोरोना वायरस के संक्रमण का असर भारत में चल रही एशियाई कुश्ती चैम्पियनशिप में भी दिख रहा है जहां जापान, कोरिया और चीनी ताइपे के पहलवानों को मंगलवार को मास्क में देखा गया। 

Chinese players did not get visas in Asian Championship, but wrestlers are using mask KPB
Author
New Delhi, First Published Feb 18, 2020, 6:40 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. चीन में फैले कोरोना वायरस के संक्रमण का असर भारत में चल रही एशियाई कुश्ती चैम्पियनशिप में भी दिख रहा है जहां जापान, कोरिया और चीनी ताइपे के पहलवानों को मंगलवार को मास्क में देखा गया। दूसरे देशों के पहलवानों और अधिकारियों ने हालांकि कहा कि वे ‘एहतियात’ के तौर पर मास्क लगा रहे हैं। नोवेल कोरोना वायरस संक्रमण के फैलने के कारण भारत सरकार ने चीन के खिलाड़ियों को वीजा जारी नहीं किया जिससे वहां के पहलवान इस प्रतियोगिता में भाग नहीं ले रहे हैं। चीन में 72,000 से ज्यादा लोग इस वायरस के संक्रमण की चपेट में है जबकि अब तक 1900 लोगों की मौत हो गयी है।

कोरियाई टीम के चिकित्सा सदस्य सीयेओन ली ने कहा, ‘‘हमारे दल में 28 खिलाड़ी है और उसमें से कुछ खिलाड़ियों और पहलवानों ने मास्क लगाये हैं। हमें पता है कि यहां वह वायरस नहीं है और यह जगह सुरक्षित है लेकिन फिर भी जोखिम क्यों उठाना।’’

चीन के खिलाड़ियों को नहीं मिला वीजा 
यूनाइटेड वर्ल्ड रेस्लिंग (यूडब्ल्यूडब्ल्यू) के डिजिटल प्रोजेक्ट मैनेजर को भी यहां मास्क में देखा गया। उन्होंने कहा, ‘‘ यह वायरस एशियाई देशों में फैल रहा है इसलिए मेरा परिवार चिंतित है। हमें पता है कि यहां वायरस नहीं है क्योंकि चीन के खिलाड़ियों को वीजा नहीं दिया गया है।’’

प्रदूषण से बचने के लिए भी हो रहा मास्क का इस्तेमाल 
कुछ खिलाड़ियों के लिए दिल्ली का वायु प्रदूषण चिंता की बात है। जापान टीम के एक सदस्य ने कहा, ‘‘दिल्ली में हवा की गुणवक्ता अब भी सही नहीं है और वायरस को लेकर भी चिंता है क्योंकि हमें पता है कि कुछ एशियाई देश इसकी चपेट में है।’’ भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) ने कहा कि खिलाड़ी और अधिकारी मास्क का इस्तेमाल दिल्ली में प्रदूषण से बचने के लिए कर रहे हैं। डब्ल्यूएफआई के एक अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘‘ कोरिया, थाईलैंड और जापान के कुछ पहलवान मास्क पहने हुए हैं जो काफी आम बात है। वे दिल्ली के प्रदूषण स्तर को लेकर चिंतित है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यहां चिंता करने वाली कोई बात नहीं है। हो सकता है वे कोरोना वायरस के कारण अतिरिक्त सवधानी बरत रहे हों लेकिन यहां सब कुछ सुरक्षित है।’’

तीन कैटेगरी में खेला जाएगा टूर्नामेंट 
इस चैम्पियनशिप को यूनाइटेड वर्ल्ड रेस्लिंग ने तोक्यो ओलंपिक के लिए रैंकिंग टूर्नामेंट का दर्जा दिया है। टूर्नामेंट को तीन श्रेणियों में खेला जाएगा। जिसमें पुरुषों की फ्री स्टाइल, ग्रीको रोमन और महिलाओं की कुश्ती शामिल है। पहले दो दिन ग्रीको रोमन मुकाबले होंगे, उसके बाद महिलाओं की कुश्ती (अगले दो दिन) और फिर पुरुष फ्रीस्टाइल (अंतिम दो दिन) के मुकाबले होंगे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios