बेंगलुरु. राष्ट्रीय तैराकी कोच प्रदीप एस कुमार ने रविवार को कहा कि मंगलवार से यहां शुरू हो रहे 10वीं एशियाई आयु वर्ग चैम्पियनशिप में भारत का लक्ष्य पदक तालिका में शीर्ष पर रहने का होगा। प्रदीप ने उम्मीद जतायी कि भारतीय खिलाड़ी पिछले प्रदर्शन में सुधार करेंगे जहां उन्होंने पांच स्वर्ण, 13 रजत और 22 कांस्य पदक हासिल किये थे। कई खिलाड़ियों के लिए यह पहली बार होगा जब वे घर में किसी बड़े अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग लेंगे। ऐसे में उनका हौसला बढ़ा हुआ है। सभी तैराक पिछले प्रदर्शन में सुधार कर पदकों की संख्या बढ़ाना चाहते है।

द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता कोच ने कहा, इसमें कोई शक नहीं कि हमारी कोशिश पदक तालिका में शीर्ष पर रहने की होगी। नौ दिनों तक चलने वाला यह टूर्नामेंट ओलंपिक क्वालीफाइंग स्पर्धा है जिसमें ईरान, जार्डन, कुवैत, किर्गिज गणराज्य, मालदीव, नेपाल, ओमान, कतर, सऊदी अरब, तुर्कमेनिस्तान, यूएई, उज्बेकिस्तान, वियतनाम, थाईलैंड, श्रीलंका, दक्षिण कोरिया, फिलीपींस, इंडोनेशिया, सिंगापुर, बांग्लादेश और सीरिया जैसे देशों के खिलाड़ी भाग लेंगे।

(यह खबर न्यूज एजेंसी पीटीआई भाषा की है। एशियानेट हिंदी की टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)