Asianet News HindiAsianet News Hindi

अमूल्या को मारने पर 10 लाख का ईनाम, वीडियो जारी कर इस संगठन के कार्यकर्ता ने किया एलान

एक वीडियो फुटेज में श्री राम सेना का कार्यकर्ता संजीव मारदी सरकार से अमूल्या को नहीं रिहा करने का आह्वान करता नजर आ रहा है। वीडियो में साथ ही वह यह भी कह रहा है कि वरना वह उसे जान से मार देगा। अमूल्या लियोना के खिलाफ शनिवार को बेल्लारी में श्रीराम सेना द्वारा आयोजित एक विरोध रैली में मारदी कह रहा है, “राज्य और केंद्र सरकार को किसी भी स्थिति में युवती को नहीं रिहा करना चाहिए। अगर उसे छोड़ दिया गया तो हम उसे जान से मार देंगे।”

10 lakh reward for killing Amulya,The worker of this organization announced by released the video kpm
Author
Bangalore, First Published Feb 22, 2020, 11:32 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बेंगलुरू. दक्षिणपंथी संगठन श्री राम सेना के एक कार्यकर्ता ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ गुरूवार शाम को यहां एक रैली में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने वाली अमूल्या लियोना की हत्या करने के लिए 10 लाख रूपये के इनाम की घोषणा की है।

वीडियो में संजीव जान से मारने की धमकी दे रहा है

एक वीडियो फुटेज में श्री राम सेना का कार्यकर्ता संजीव मारदी सरकार से अमूल्या को नहीं रिहा करने का आह्वान करता नजर आ रहा है। वीडियो में साथ ही वह यह भी कह रहा है कि वरना वह उसे जान से मार देगा। अमूल्या लियोना के खिलाफ शनिवार को बेल्लारी में श्रीराम सेना द्वारा आयोजित एक विरोध रैली में मारदी कह रहा है, “राज्य और केंद्र सरकार को किसी भी स्थिति में युवती को नहीं रिहा करना चाहिए। अगर उसे छोड़ दिया गया तो हम उसे जान से मार देंगे।”

बेल्लारी SP ने कहा हमारे पास कोई ऐसी वीडियो नहीं आई है

उन्होंने कहा, “उसकी हत्या करने वाले को श्री राम सेना की तरफ से हम 10 लाख का इनाम देंगे।’’ बेल्लारी के पुलिस अधीक्षक सी के बाबा ने कहा कि उन्होंने ऐसा कोई वीडियो नहीं देखा और ना ही ऐसी कोई घोषणा सुनी है। उन्होंने कहा, मुझे इसके बारे में पता लगाने दीजिए। उसने जो कहा है मैंने वह नहीं देखा। मैं देखूंगा....

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ गुरूवार शाम को यहां एक रैली में एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की उपस्थिति में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने वाली युवती पर राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया है और उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। ओवैसी ने उसकी हरकत की निंदा की।

(यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios