सूरत (गुजरात). आजकल माता-पिता का बच्चों को डांटना किसी खतरे से खाली नहीं है। वह इतना बुरा मान जाते हैं कि आत्यहत्या जैसा बड़ा कदम उठा लेते हैं। ऐसा ही एक दुखद घटना गुजरात के सूरत से सामने आई है, जहां मां की शिकायत से नाराज होकर इकलौती बेटी ने खुदखुशी कर ली।

टीचर से शिकायत की तो कर लिया सुसाइड
दरअसल, यह मामला सूरत शहर के डिंडोली इलाके का है, जहां 10वीं क्लास में पढ़ने वाली खुशी जहरीली दवा पीकर जिंदगी को अलविदा कह गई। बता दें कि खुशी की मां ने क्लास टीचर को फोनकर यह कह दिया था कि वह मस्ती कर रही है, आपका बताया कोई होमवर्क नहीं कर रही है। बस मां की यह बात इतनी बुरी लगी कि उसने सुसाइड कर लिया।

सहेलियों की मस्ती, अगले ही पल कह गई अलविदा
बता दें कि मकर संक्रांति के दिन खुशी अपनी सहेलियों के साथ पतंगबाजी करने के लिए गई हुई थी। जहां वह पतंग उड़ाते हुए मस्ती व खेल-कूद में व्यस्त थी। इसी दौरान मां ने उससे होमवर्क पूरा करने के लिए कहा था। लेकिन उसने मना कर दिया था। फिर जब मां ने डांटा तो यह कदम उठा लिया।

माता-पिता ने खो दी इकलौती संतान 
खुशी पटेल अपने परिवार की इकलौती संतान थी।  खुशी के पिता जहां जेरॉक्स की दुकान चलाते हैं, वहीं मां घर के काम करती है। मां ने बताया कि टीचर से शिकायत करने के बाद खुशी नाराज होकर अपने कमरे में चली गई। काफी देर होने के बाद कोई हलचल नहीं हुई तो दरवाजा खोला तो वह बिस्तर बेसुध हालत में पड़ी हुई थी। हालत बिगड़ने पर उसे तुरंत सिविल अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।