गिर-सोमनाथ, गुजरात. मां की शक्ति के आगे सब कमजोर हैं। यही उदाहरण यहां देखने को मिला। मामला एक मां के बच्चे की जिंदगी से जुड़ा था। यहां शनिवार को एक बच्चे पर तेंदुए ने हमला कर दिया। यह देखकर उसकी मां दौड़ी और धूल उठाकर तेंदुआ की आंखों में झोंक दी। इससे वो घबराकर भाग गया। घटना गिर-सोमनाथ जिले के बरूला गांव की है। सुबह मंजूबेन अपने खेत में काम कर रही थीं। पास ही उनका 8 साल का बेटा आर्यन खेल रहा था। इसी बीच जंगल से एक तेंदुआ पहुंचा और बच्चे पर हमला कर दिया। वो उसे खींचकर अपने साथ ले जाने लगा था। उसकी चीख-पुकार सुनकर मंजूबेन ने मुट्ठी में धूल भरी और दौड़कर तेंदुए के पास पहुंचकर उसकी आंखों में झोंक दी। ऐसा उन्होंने कई बार किया। आखिरकार तेंदुआ घबराकर वहां से भाग गया।

तेंदुए के हमले से आर्यन के पीठ में जख्म हो गए। लोग उसे फौरन अस्पताल लेकर पहुंचे। हालांकि बच्चे की हालत ठीक है। इस घटना के बाद मंजूबेन की बहादुरी की चर्चा हो रही है।