Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोरोना वायरस : संदिग्ध मरीज की पहचान उजागर करने पर हॉस्पिटल अधीक्षक सस्पेंड

 ‘‘संदिग्ध मरीज की निजी जानकारी के खुलासे के कारण उससे मुलाकात करने वाले उसके रिश्तेदार और उसके इलाके में रहने वाले लोग चिंतित हो गए थे।’’

Corona virus: hospital superintendent suspended for revealing suspected patient kpm
Author
Jammu, First Published Mar 15, 2020, 3:43 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जम्मू. जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में कोरोना वायरस के एक संदिग्ध मरीज की पहचान उजागर करने को लेकर एक अस्पताल के चिकित्सकीय अधीक्षक को निलंबित कर दिया है।

अधीक्षक ने दिशानिर्देशों का किया था उल्लंघन

अधिकारियों ने रविवार को बताया कि राजौरी के जिला विकास आयुक्त (डीडीसी) मोहम्मद नजीर शेख ने राजौरी के सरकारी चिकित्सकीय कॉलेज के ‘एसोसिएटिड हॉस्पिटल’ के चिकित्सकीय अधीक्षक रघुवीर सिंह को निलंबित करने का शनिवार को आदेश दिया। चिकित्सक ने संदिग्ध मरीज की पहचान उजागर कर दिशानिर्देशों का उल्लंघन किया था जिसके बाद उसके खिलाफ कार्रवाई की गई।

सऊदी अरब से आया था संदिग्ध मरीज

अधिकारियों ने बताया कि सऊदी अरब से आए एक व्यक्ति को बुखार, जुकाम जैसे लक्षण होने पर शनिवार को राजौरी के ‘एसोसिएटिड हॉस्पिटल’ लाया गया था और चिकित्सकों ने उसे कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज के रूप में पृथक वार्ड में रखने का फैसला किया था। उन्होंने डीडीसी, राजौरी के आदेश के हवाले से कहा, ‘‘संदिग्ध मरीज की निजी जानकारी के खुलासे के कारण उससे मुलाकात करने वाले उसके रिश्तेदार और उसके इलाके में रहने वाले लोग चिंतित हो गए थे।’’

निजता का सम्मान नहीं करने पर अधीक्षक को किया गया निलंबित

अधिकारियों ने बताया कि चिकित्सकीय अधीक्षक को मरीज की जानकारी साझा करने और निजता का सम्मान नहीं करने पर जांच लंबित रहने तक निलंबित किया गया है। मरीज की जानकारी साझा करना केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी मरीजों के अधिकारपत्र और भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद के पेशेवर आचरण नियमों का घोर उल्लंघन और कर्तव्य में लापरवाही है।

शेख ने आदेश में कहा, ‘‘चिकित्सकीय अधीक्षक राजौरी के मुख्य चिकित्सकीय अधिकारी के कार्यालय में काम करेगा और प्रधान जीएमसी राजौरी वैकल्पिक व्यवस्था करेंगे ताकि जीएमसी राजौरी के एसोसिएटिड हॉस्पिटल में काम बाधित नहीं हो।’’

(ये खबर पीटीआई/भाषा की है। हिन्दी एशियानेट न्यूज ने सिर्फ हेडिंग में बदलाव किया है।)

(प्रतिकात्मक फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios