कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लोगों से कोरोना वायरस के प्रति एहतियात के तौर पर भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचने की शुक्रवार को अपील की। उन्होंने इस महामारी का मुकाबला करने के लिए उठाये गये विभिन्न कदमों के बारे में भी जानकारी दी।

खांसी होने पर डॉक्टर से परामर्श लें

बनर्जी ने यहां ‘खेल सम्मान’ कार्यक्रम में कहा कि इस वैश्विक महामारी के मद्देनजर घबराने की कोई जरूरत नहीं है लेकिन सुरक्षा के उपाय अवश्य किये जाने चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘यदि आपको खांसी आने लगी है तो कृपया, यह सोचना शुरू मत न करें कि आपको कोरोना वायरस हो गया है। यह किसी भी फ्लू का लक्षण है और यदि लंबे समय तक ज्वर रहता है तो किसी डॉक्टर से अपना इलाज कराइए।’’ उन्होंने कहा कि कोई भी संदेह होने पर डॉक्टर से परामर्श कर व्यक्ति को बेलियाघाटा संक्रामक रोग अस्पताल में अपनी जांच करानी चाहिए।

कोविड-19 की अब तक कोई दवा नहीं

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ जहां तक मैं जानती हूं कि कोविड-19 की अब तक कोई दवा नहीं खोजी गयी है लेकिन विशेषज्ञ तेज बुखार की स्थिति में घर में 14 दिनों तक आराम करने, किसी से हाथ नहीं मिलाने और बातचीत के दौरान पांच मीटर की दूरी बनाकर रखने का सुझाव दे रहे हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं कोई विशेषज्ञ नहीं हूं लेकिन यदि कुछ लोग कह रहे है कि यदि तापमान बढ़ता है तो इसे काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है। देखते हैं।’’ उन्होंने कहा कि यहां नेताजी इनडोर स्टेडियम में यह कार्यक्रम इसलिए रद्द नहीं किया जा सका क्योंकि कोरोना वायरस बीमारी के फैलने से काफी पहले इसकी योजना बनायी गयी थी।

(ये खबर पीटीआई/भाषा की है। हिन्दी एशियानेट न्यूज ने सिर्फ हेडिंग में बदलाव किया है।) 
 

(फाइल फोटो)