Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोरोना की जंग जीतकर 10 दिन बाद घर पहुंची महिला, कुछ इस तरह हुआ उसका वेलकम कि छलक पड़े खुशी के आंसू

पूरी दुनिया इस समय कोरोना वायरस से जूझ रही है। वहीं भारत में  33 लोगों की मौत हो चुकी है। गुजरात में जब एक महिला मरीज ठीक होकर अपने घर पहुंची तो उसका कुछ इस तरह से स्वागत हुआ कि वह देखती रह गई।
 

coronavirus lockdown in india death positive case inspiring lockdown Emotional news kpr
Author
Ahmedabad, First Published Mar 30, 2020, 6:44 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

सूरत (गुजरात). पूरी दुनिया इस समय कोरोना वायरस से जूझ रही है। देश में कोरोना इस महामारी के पीड़ितों की संख्या 1200 हो गई है। जबकि 33 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि राहत भरी खबर यह है कि 110 लोग ठीक भी हो चुके हैं। गुजरात में जब एक महिला मरीज ठीक होकर अपने घर पहुंची तो उसका कुछ इस तरह से स्वागत हुआ कि वह देखती रह गई।

घंटी-शंख बजाकर हुआ वेलकम
दरअसल, सोमवार के दिन अहमदाबाद की एक महिला कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी को मात देकर अपने घर पहुंची थी। लेकिन उसके पहुंचे ही उसके घरवालों और आसपास के लोगों ने तालियां और घंटी-शंख बजाकर वेलकम किया तो वह शॉक्ड थी। आलम यह था कि उसकी आंखों से खुशी के आंसू छलक पड़े। उसने कहा मुझे यकीन नहीं हो रहा है कि में अपने घर हूं।

10 दिनों से आइसोलेशन में थी महिला
बता दें कि इस महिला का अहमदाबाद के एसजीबी अस्पताल में इलाज चल रहा था। वह यहां पिछले 10 दिनों से आइसोलेशन में थीं। वह कुछ दिन पहले फिनलैंड गई थीं। जब उसकी जांच हुई तो वो पॉजिटिव पाई गईं थी। हालांकि अब वह बिल्कुल ठीक हो गई है।

घर से दूर रहने का समझ आया मतलब
महिला ने मीडिया  से बात करते हुए बताया-अब घर में रहने का मतलब समझ में आ रहा है। उन्होंने कहा- कोरोना की पहचान के लिए किया जाने वाला टेस्ट काफी दर्द भरा होता है। लेकिन यह अच्छा है कि मुझ पर कोरोना का ज्यादा असर नहीं हुआ।

गुजरात में 6 लोगों की हो चुकी है मौत
गुजरात में अब तक कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या 58 हो चुकी है। जबकि इससे 6 लोगों की मौत भी हो चुकी है। अहमदाबाद में 3 और सूरत और भावनगर में एक-एक मरीज की मौत हुई है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios