Asianet News HindiAsianet News Hindi

मां के शव को बीच में रखकर परिवार ने खिंचवाई फोटो, रोने की जगह मुस्कुराते हुए आए नजर...जानिए क्या थी वजह

केरल से एक अनोखी तस्वीर सामने आई है। जहां एक परिवार के बुर्जुग की मौत के बाद घर के सदस्य शव को बीच में रखकर हंसते-मुस्कुराते हुए पोज देते नजर आए।  सोशल मीडिया पर यह खूब वायरल हो रही है राज्य के शिक्षा मंत्री ने भी इसका सपोर्ट किया।

emotional story  photo of smiling faces of family members with dead body before the funeral in kerala kpr
Author
Kerala, First Published Aug 25, 2022, 11:00 AM IST

केरल. किसी के घर में अगर मौत हो जाए तो मातम बिखरा रहता है। रोने की चीखें सुनाई देती हैं। लेकिन केरल से एक अनोखी तस्वीर वायरल हो रही है। जहां परिवार के सदस्यों ने शव को बीच में रखकर तस्वीर खिंचवाई। इतना ही नहीं वह रोने की बजाय मुस्कुराते हुए नजर आए। तस्वीर के वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर इसको लेकर बहस होने लगी है, लोग कमेंट्स करते हुए कह रहे हैं कि ये कैसा परिवार है जो सदस्य की मौत के बाद इतना खुश नजर आ रहा है। हैरानी की बात यह है कि यह तस्वीर उस वक्त क्लिक  की गई जब राज्य के शिक्षा मंत्री वी सिनवनकुट्टूी शोक सभा में पहुंचे हुए थे।

परिवार के सभी सदस्यों ने शव को बीच में रख क्लिक की तस्वीर
दरअसल, टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के हवाले से यह खबर सामने आई है। हैरान कर देने वाला ये मामला पठानथिट्टा जिले के मालापल्ली गांव बताया जा रहा है। यहां के निवासी 95 वर्षीय मरियम्मा की एक सप्ताह पहले 17 अगस्त को निधन हो गया था। परिवार के सभी लोग अंतिम संस्कार की तैयारी कर रहे थे, इसी दौरान घर और खास रिश्तेदारों ने शव को बीच में रखकर ये तस्वीर खिंचवाई। 

देश-विदेश से अंतिम दर्शन करने पहुंचे लोग
परिवार के लोगों का कहना है कि मरियम्मा की पिछले कुछ महीनों से तबीयत खराब थी। वह लंबे समय से चलने-फिरने में असमर्थ थीं। वो अक्सर बिस्तर पर ही लेटी रहती थीं। उनको बहुत पीड़ा होती थी। वह अपने परिवार में 40 मेंबर को पीछे छोड़ गई हैं। . उनके नौ बच्चे और 19 पोते-पोतियां हैं, जो भारत ही नहीं विदेश में भी रहते हैं। हालांकि उनके अंतिम संस्कार के वक्त परिवार के सभी सदस्य पहुंच गए और सभी ने मिलकर उनके साथ ये फोटो ली। ताकि इस पल को याद रखा जा सके।

जानिए क्योंकि शव के साथ खिंचवाई मु्स्कुराते हुए तस्वीर
 सोशल मीडिया पर हो रही इस तस्वीर के आलोचना के बीच मृतका के बेटे और चर्च के पादरी डॉ. जॉर्ज ओमेन का कहना है कि उन्हें और उनके परिवार को ऐसे नकारात्मक कमेंट्स से कोई फर्क नहीं पड़ता है। वह अपने बच्चों और पोते-पोतियों से बेहद प्यार करती थीं। वह चाहती थीं कि उनके जाने के बाद पूरा परिवार हमेशा खुश रहे है। इसलिए हमने उनकी इच्छा की खातिर ऐसा किया है। उनको रोने की बजाय खुशी-खुशी विदा  किया। हां जिन लोगों को यह फोटो पसंद नहीं आई हम कुछ नहीं कर सकते हैं। वहीं राज्य के शिक्षा मंत्री वी शिवनकुट्टी ने इस तस्वीर को लेकर परिवार का सपोर्ट किया है। उन्होंने फेसबुक पर लिखा-मरियम्मा की मौत दर्दनाक है, लेकिन यह भी एक विदाई है। वहीं कुछ लोग इस तस्वीर को पसंद भी कर रहे हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios