Asianet News HindiAsianet News Hindi

Goa Elections 2022 : क्या अकेले दम चुनाव लड़ेगी कांग्रेस...शिवसेना बोली - ऐसा हुआ तो 10 सीट मिलना भी नामुमकिन

गोवा में कांग्रेस के केवल तीन विधायक हैं। पार्टी के विधायकों ने इसे सामूहिक रूप से छोड़ दिया है। प्रमुख राजनीतिक दलें शिवसेना और NCP ने कांग्रेस को उसके कठिन समय में समर्थन देने की पेशकश की थी। लेकिन मुझे नहीं पता कि कांग्रेस क्या सोच रही है। 

Goa Elections 2022, Panaji shiv sena sanjay raut said congress can not win without us stb
Author
Panjim, First Published Jan 13, 2022, 2:56 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पणजी : महाराष्ट्र (Maharashtra) में शिवसेना और NCP के साथ गठबंधन की सरकार चला रही कांग्रेस (congress) लगता है गोवा विधानसभा चुनाव (Goa Elections 2022) में यही फॉर्मूला अपनाना नहीं चाहती। तभी तो गठबंधन वाले शिवसेना के प्रस्ताव पर कांग्रेस ने अभी तक कोई जवाब तक नहीं दिया है। जिससे शिवसेना नाराज हो गई है। शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने गुरुवार को कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि गोवा की जमीनी हकीकत ये है कि कांग्रेस अपने दम पर 10 सीटें भी नहीं जीत सकती।

10 सीट भी नहीं जीत पाएगी कांग्रेस
संजय राउत ने कहा कि गोवा में कांग्रेस के पास सिर्फ तीन विधायक बचे हैं। विधायकों पार्टी को सामूहिक रूप से छोड़ दिया। शिवसेना और NCP ने कांग्रेस के बुरे दौर में साथ देने का ऑफर दिया था लेकिन पता नहीं कांग्रेस क्या सोच रही है, उसके दिमाग में क्या चल रहा है। अगर ऐसा ही रहा और वह चुनाव में अकेले गई तो उसे करारी हार का सामना करना पड़ेगा। ऐसी स्थिति में कांग्रेस  के लिए 10 का आंकड़ा पाना भी कठिन हो जाएगा।

सहयोगियों को 10 सीट दे कांग्रेस
संजय राउत ने कहा कि हमने गोवा कांग्रेस प्रभारी दिनेश गुंडुराव, सीएलपी नेता दिगंबर कामत और गोवा कांग्रेस प्रमुख गिरीश चोडनकर के साथ बातचीत की थी और प्रस्ताव रखा था कि कांग्रेस 40 विधानसभा सीटों में से 30 पर खु चुनाव लड़े और बाकी की सीटें अपने सहयोगियों के लिए छोड़ दें। उन्होंने आगे कहा कि गोवा में 10 विधानसभा सीटें तो ऐसी हैं जहां कांग्रेस को पिछले 50 सालों में जीत नहीं नसीब हुई। ये सीटें शिवसेना, एनसीपी और गोवा फॉरवर्ड पार्टी को दी जा सकती हैं।

हाईकमान चाहता था गठबंधन
शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) गठबंधन  के पक्षधर थे, लेकिन कांग्रेस की लोकल बॉडी हाईकमान से अलग विचार रखती है। शिवसेना गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल की उम्मीदवारी का समर्थन करने के लिए तैयार है, अगर वह विधानसभा चुनावों में राजनीतिक कदम उठाने का फैसला करते हैं। ऐसे में कांग्रेस की राह मुश्किल हो जाएगी।

इसे भी पढ़ें-Goa Elections 2022: भाजपा का दावा- गोवा में लगाएंगे जीत की हैट्रिक, AAP और TMC को बताया नेता और नेतृत्व विहीन

इसे भी पढ़ें-Goa Elections 2022: AAP में शामिल होने की अनोखी शर्त, लिया जाएगा हलफनामा, गोवा के नेताओं को बताया कुख्यात

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios