Asianet News HindiAsianet News Hindi

Shocking: Diwali से पहले बुझा घर का चिराग, 3 साल के बच्चे ने निगल लिए थे पटाखे, नहीं बच सकी जान

गुजरात (Gujrat) के सूरत (Surat) शहर में दिवाली (Diwali) से पहले एक हादसे ने पूरे परिवार को जिंदगी भर का दर्द दे दिया। बच्चे ने खेल-खेल में पटाखे खा लिए थे, इस बात की जानकारी परिजन तक को नहीं थी। बाद में जब बच्चे की तबीयत बिगड़ी तो उसे अस्पताल ले गए, जहां उसकी मौत हो गई। त्योहार से पहले बच्चे की मौत से परिजन का बुरा हाल है।
 

Gujarat 3 year old boy died after swallowing firecrackers in Surat Dindoli
Author
Surat, First Published Nov 3, 2021, 6:28 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

सूरत। गुजरात (Gujrat) के सूरत (Surat) से चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां घरवालों की एक छोटी सी गलती से 3 साल के बच्चे की जान चली गई। बच्चे ने खेल-खेल में पटाखे निगल लिए थे, जिससे उसकी तबीयत बिगड़ गई। यह जानकारी परिजन को तब हुई, जब वह उल्टियां करने लगा। परिजन ने देखा तो बच्चे की उल्टियों में पटाखों के टुकड़े देखे गए। बच्चे को तुरंत पास के एक अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी कुछ घंटे बाद मौत हो गई। ये बच्चा घर में इकलौता था। त्योहार से पहले मौत हो जाने से परिजन का बुरा हाल है।

मामला सूरत के डिंडोली इलाके का है। यहां मूलरूप से बिहार निवासी राज शर्मा परिवार समेत रहते हैं। राज ने बताया कि दिवाली का त्योहार है, इसलिए वे घर में 3 साल के बेटे शौर्य और 2 साल की बेटी के लिए शनिवार को जमीन पर पटक कर फोड़ने वाले पटाखे का पैकेट लेकर आए थे। दूसरे दिन रविवार को बेटे शौर्य ने पैकेट खोल दिया और उससे ना जाने कब कई पटाखे निगल लिए। शाम को जब अचानक तेज बुखार आया और उसकी तबीयत बिगड़ी तो कुछ समझ में नहीं आया। इसके बाद उसने उल्टियां करना शुरू कर दिया। इसी दौरान मां ने शौर्य की उल्टियों में पटाखे के टुकड़े निकलते देखे। तब जाकर पता लगा कि बेटे ने पटाखे निगल लिए हैं। 

अस्पताल में 10 घंटे चला इलाज, नहीं बच सकी जान
आनन-फानन में बेटे को एक क्लीनिक में लेकर गए, जहां उसका इलाज किया गया। बाद में हालत में सुधार नहीं हुआ तो सिविल अस्पताल लेकर पहुंचे। करीब 10 घंटे बाद बेटे शौर्य ने दम तोड़ दिया। राज शर्मा का कहना था कि वे पत्नी और बेटे-बेटी के साथ करीब 8 महीने पहले ही सूरत आए थे और एक कारखाने में कारपेंटर का काम करते हैं। घर की आर्थिक हालत ठीक नहीं है। किसी तरह परिवार का गुजर-बसर कर रहे थे। लेकिन, दिवाली से पहले ही इकलौते बेटे की मौत ने पूरी तरह तोड़ कर रख दिया है। परिवार की खुशियां ही मातम में बदल गईं।

सूरत में एक सप्ताह में पटाखे से दूसरा हादसा 
सूरत में 6 दिन में पटाखे से ये दूसरा हादसा है। इससे पहले यहां तुलसी दर्शन सोसायटी में 5 बच्चे सीवर के मैनहोल के ऊपर बैठकर पटाखे जला रहे थे। इसी दौरान सीवर से निकल रही गैस से आग भड़क गई और सभी बच्चे झुलस गए थे। दरअसल, सीवर के ढक्कन के नीचे से गैस लाइन निकली है, जिसमें लीकेज हो रहा था। बच्चों ने पटाखे जलाने के लिए आग जलाई तो नीचे से लपटें निकलने लगीं और बच्चे उसकी चपेट में आकर झुलस गए। यह हादसा एक घर में लगे सीसीटीवी में कैद हो गया था। गनीमत रही कि बच्चे गंभीर रूप से घायल नहीं हुए थे।

Rajasthan-MP में चौंकाने वाले मामले: मौत के बाद लाशों को लग रही कोरोना वैक्सीन, सच्चाई जान हो जाएंगे हैरान

साथ जिए साथ अलविदा: नहीं रही दो जिस्म एक जान जुड़वा भाई की अनूठी जोड़ी, जिन्हें देखने आते थे विदेश से लोग

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios