Asianet News HindiAsianet News Hindi

बड़े घर की लड़कियों को ड्रग्स का आदी बनाया, पैसों के लिए जिस्मफरोशी के धंधे में ढकेला, चुभती कहानी ने खोले राज

लड़की ने बताया कि शुरुआत में ड्रग्स डीलर ने फ्री में डोज दी लेकिन बाद में बंद कर दिया। लड़की ने डीलर से ड्रग्स मांगी और बताया कि पैसे भी नहीं हैं। इसके बाद डीलर ने कहा कि एक घंटे के लिए होटल में जाओ और जो कुछ भी कहा जाए, सब करो। ड्रग पैडलर उसे ड्रग्स का डोज देने से पहले होटल ले जाता था और उससे जिस्मफरोशी कराता था। 

gujarat ahmedabad drug addiction forced the girls of the nobles to indulge in sexism, 48 rescue stb
Author
Ahmedabad, First Published Dec 7, 2021, 2:29 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अहमदाबाद : गुजरात (Gujrat) की अहमदाबाद (Ahmedabad) पुलिस ने 48 लड़कियों को जिस्मफरोशी के दलदल से बाहर निकाला है। ये लड़कियां नशे की आदी हो चुकी थी। नशे की आदत ने उन्हें जिस्मफरोशी तक के लिए मजबूर कर दिया। ज्यादातर लड़कियां बड़े घरों की हैं। कई तो काफी पढ़ी-लिखी भी हैं। नशे की जाल से बाहर आने के बाद इन लड़कियों ने 
अपनी दास्तां सुनाई और बताया कि कैसे नशे की लत में वे यहां तक पहुंची और इस दलदल में फंसती चली गई। एक लड़की के मुताबिक ड्रग्स डीलर पैसे वाले घरों की लड़कियों को नशे के जाल में फंसाते हैं। इसके बाद जब लड़कियां बुरी तरह नशे की आदी हो जाती है तो उन्हें पैसों के लिए जिस्म बेचने को मजबूर करते हैं।

बड़े घरों की लड़कियां निशाने पर
जुलाई 2020 में पुलिस ने अहमदाबाद के होटल मार्वल में रेड डाली। जहां 20 साल की लड़की मिली थी, जो शादीशुदा थी। पुलिस के मुताबिक वह अच्छे घर की थी। नशे के इंजेक्शन लेने से उसके हाथों और शरीर के अन्य हिस्सों पर निशान पड़ गए थे। इन निशानों को छिपाने के लिए यह लड़की अपने हाथ छिपाने की कोशिश कर रही थी। उसने पुलिस से अंग्रेजी में बात की। उसने बताया कि वह एक साइंस कॉलेज की स्टूडेंट है, लेकिन नशे की लत के कारण यहां तक पहुंच गई। उसने बताया कि कुछ समय पहले एक दोस्त के साथ पार्टी में गई थी, जहां अजनबी लड़के भी आ रहे थे। इस हाई प्रोफाइल पार्टी में नशा एक स्टेटस सिंबल था। वहां आईं लड़कियां भी ऐसा कर रही थीं तो उसने भी यह कदम उठा लिया। बाद में ड्रग्स डीलर के कॉन्टैक्ट में आई और पूरी पॉकेटमनी ड्रग्स पर खर्च करने लगी। कोरोना में पिता का कारोबार ठप हो गया तो पॉकेटमनी भी बंद हो गई।

ड्रग्स डीलर ने शुरुआत में फ्री में डोज दी
लड़की ने बताया कि शुरुआत में ड्रग्स डीलर ने फ्री में डोज दी लेकिन बाद में बंद कर दिया। लड़की ने डीलर से ड्रग्स मांगी और बताया कि पैसे भी नहीं हैं। इसके बाद डीलर ने कहा कि एक घंटे के लिए होटल में जाओ और जो कुछ भी कहा जाए, सब करो। ड्रग पैडलर उसे ड्रग्स का डोज देने से पहले होटल ले जाता था और उससे जिस्मफरोशी कराता था। जब लड़की के परिवार को इसका पता चला तो उन्होंने उसकी शादी करा दी, लेकिन शादी के बाद भी वह ड्रग्स पैडलर के लिए काम करती रही।

पैसों के लिए होटल में भेजा
इसी तरह एक लड़की ने भी अपनी दास्तां सुनाई। यह लड़की अहमदाबाद की एक जानी-मानी कंपनी के मालिक की बेटी थी। ड्रग्स की लत लगने पर नशा करने लगी। धीरे-धीरे पैसों की किल्लत होने लगी। ड्रग्स डीलर ने जब बिना पैसों के ड्रग्स देने से इनकार कर दिया तो वह उसके सामने गिड़गिड़ाने तक लगी। इसके बाद ड्रग्स डीलर ने ही उसे जिस्मफरोशी के बाजार में उतार दिया। पैसों के लिए उसे होटलों में भेजने लगा।

पुलिस की पहल से मिली मदद
इन लड़कियों से सच्चाई जानने के बाद पुलिस ने एक धार्मिक संप्रदाय की मदद से लड़कियों की मदद और उनका इलाज शुरू किया। ऐसी करीब 48 लड़कियों को अब तक पुलिस नशे के चंगुल से मुक्त करा चुकी है। अहमदाबाद पुलिस अब इस ड्रग्स के कारोबार की जड़ तक पहुंचने की कोशिश कर रही है। इसके एक्शन प्लान को लेकर गुजरात पुलिस के अधिकारियों से भी चर्चा की जा चुकी है। पुलिस का कहना है कि अगर कोई और लड़की भी मदद चाहती है तो वह पुलिस से संपर्क करे और उसकी पहचान जाहिर किए बिना मदद की जाएगी। वहीं पुलिस की इस पहल और कार्रवाई की काफी तारीफ भी हो रही है। 

इसे भी पढ़ें-OMG: 17 के लड़के ने रोटी की तरह खा लीं 27 कीलें, डॉक्टर अल्ट्रासाउंड देख हैरान..बोले-ये अभी तक जिंदा कैसे?

इसे भी पढ़ें-महिलाओं से अश्लील बातें करता था पुजारी, 60 से अधिक शिकायतें हुई दर्ज, वूमेन पॉवरलाइन की टीम ने किया गिरफ्तार

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios