Asianet News HindiAsianet News Hindi

यहां के कारोबारी ने भगवान केदारनाथ को चढ़ाया 230 किलो सोना, अब गोल्ड की होंगी मंदिर की दीवारें

पूरी दुनिया में विश्वविख्यात उत्तराखंड में मौजूद श्री केदारनाथ मंदिर के गर्भगृह के अंदर की दीवारें अब सोने की बनाई जाएगी। दीवाली के शुभ अवसर पर इसकी शुरूआत भी हो गई। इसके लिए मुंबई के एक कारोबारी ने 230 किलो सोना दान किया है।
 

mumbai businessman donated 230 kg gold to kedarnath temple built gold wall in uttarakhand kpr
Author
First Published Oct 25, 2022, 5:23 PM IST

मुंबई. भारत में धर्म के चढ़ावे के लिए दानदताओं की कमी नहीं है। उनकी आस्था मंदिर में विराजमान भगवान से इस कदर जुड़ी हुई है कि वो अपनी श्रद्धा और भक्ति के लिए लाखों रुपए, सोना, चांदी आदि दान करते हैं। अब मुंबई के एक कारोबारी ने केदारनाथ मंदिर के लिए 230 किलो सोना दान किया है। इसी सोने से श्री केदारनाथ मंदिर के गर्भगृह के अंदर की दीवार अब सोने की बनाई जाएगी। 

सोने की दीवारें बनाकर गोल्ड से लिखवाए भगवान के मंत्र
दरअसल, दीवाली के शुभ अवसर पर विश्व प्रसिद्ध श्री केदारनाथ मंदिर में गर्भगृह की दीवारों पर सोने की परतें चढ़ाई गई। इतना ही नहीं इस दीवार पर गोल्ड प्लेट से भगवान शंकर के प्रतीक रहे शंख, त्रिशूल, डमरू जैसे चिन्ह उकेरे गए हैं। इसके साथ ही  सोने से ही जय केदारनाथ धम और हर हर महादेव भी लिखवाया गया है। अब यहां आने वाले श्रद्धालुओं के लिए यह आकर्षण का केंद्र होगा। इससे पहले केदारनाथ धाम के गर्भगृह की यह दीवार चांदी की थी।

कारोबारी ने इसलिए बाबा केदरनाथ मंदिर की दीवारें गोल्ड से बनवईं
 मंदिर के लिए 230 किलो सोना दान करने वाले मुंबई के कारोबारी ने बताया कि वे जब भी भगवान केदरानाथ के दर्शन के लिए आते थे तो यही सोचते थे कि ये गर्भगृह की चांदी की दीवारें क्यों ना सोने की हो जाएं। इसके लिए मैंने यह सोना दान करने का मन बनाया। फिर करोड़ों रुपए खर्च कर यह सोने की दीवार तैयार की गईं। इसके बाद मंदिर समीति ने दिवाली के मुहूर्त पर यह सोने परत दीवार पर चढ़वाई। वहीं सरकार और मंदिर समिति ने मुंबई के व्यापारी का आभार व्यक्त किया।

मंदिर के पुजारियों ने सोने की दीवारों का किया था विरोध
बता दें कि मंदिर के स्थानीय पुजारी गर्भगृह की दीवारों को सोने की करवाने का विरोध कर रहे थे। उनका कहना था कि मंदिर की चारों ओर की दीवारों पर सोने के पतरे चढ़ाए जाने से मंदिर के गर्भगृह की पौराणिकता को आघात लग रहा है। इतना ही नहीं पुजारियों ने इसके लिए अनशन करने की चेतावनी भी दी थी।  लेकिन मंदिर समिती और उत्तराखंड सरकार ने सोने के जड़वाने की अनुमति दे दी।

यह भी पढ़ें-राजस्थान का एक ऐसा मंदिर, जहां सूर्य ग्रहण के दौरान भी खुले रहते हैं पट, उपराष्ट्रपति ने जाकर किए दर्शन

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios