Asianet News Hindi

जिस गुजरात में 'पीना' अपराध है, वहां BJP के पूर्व विधायक ने शराब से कर दिया सड़क का भूमिपूजन

यह शर्मनाक तस्वीर उस गुजरात की है, जहां शराब पर बैन है। नर्मदा जिले के डेडियापाडा तहसील में सड़क निर्माण के लिए हुए भूमिपूजन में BTP के वर्तमान और भाजपा के पूर्व विधायक ने पानी की जगह शराब का इस्तेमाल किया। यही नहीं, सबने बेशर्मी के साथ फोटो भी खिंचवाए। इस मामले को लेकर जब इनकी किरकिरी हुई, तो नेताओं ने इसे आदिवासी परंपरा का हिस्सा बता दिया।

Shocking picture of alcohol free Gujarat, a case of worship for road construction kpa
Author
Ahmedabad, First Published Oct 28, 2020, 4:31 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नर्मदा, गुजरात. गुजरात में शराबबंदी (alcohol free Gujarat) के दौरान शराब पार्टिेयों की अकसर तस्वीरें सामने आती रहती हैं, लेकिन यह मामला और भी ज्यादा शर्मनाक है। इस तस्वीर ने विवाद खड़ा कर दिया है। दरअसल,डेडियापाडा तहसील में एक सड़क का निर्माण शुरू होने जा रहा है। भारतीय ट्राइबल पार्टी (BTP) के विधायक महेश वसासा और भाजपा के पूर्व विधायक मोती सिंह वसावा सहित कई नेता इसका भूमिपूजन करने पहुंचे थे। इन नेताओं ने पूजापाठ में पानी की जगह शराब का इस्तेमाल किया। यह तस्वीर जब सोशल मीडिया पर वायरल हुई और भरूच के भाजपा सांसद मनसुख वसावा ने इसकी कड़ी आलोचना की, तो इन नेताओं ने इसे आदिवासी परंपरा का हिस्सा बता दिया।

शराब की बोतल के साथ तस्वीरें भी खिंचवाईं
भूमिपूजन कार्यक्रम में नर्मदा जिला पंचायत के चेयरमैन बहादुर वसावा, पूर्व जिला पंचायत प्रमुख शंकर वसावा सहित कांग्रेस-भाजपा के कई नेता मौजूद थे। विवाद होने पर विधायक ने तर्क दिया कि पहले अबीर-गुलाल और नारियल-फूल से भूमिपूजन किया गया। इसके बाद आदिवासी परंपरा के तहत शराब से भूमि का अभिषेक हुआ। भाजपा सांसद ने कहा कि यह बहुत गलत हुआ। इससे गलत संदेश जाएगा।

यह भी पढे़ं

शराब के लिए देसी जुगाड़: शराबबंदी में भी बहती हैं नदियां और पीने वाले बना ही लेते हैं रास्ता

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios