Asianet News HindiAsianet News Hindi

डॉक्टरों ने किया गजब चमत्कार: जो दुबई में नहीं हो सका वह दिल्ली में कर दिखाया..यूं नामुमकिन को किया मुमकिन

दुबई के डॉक्टरों ने कहा-अंगूठे को जोड़ने के लिए 24 लाख का खर्चा आएगा। युवक ने इतना महंगा इलाज सुन भारत में ट्रीटमेंट कराने का फैसला लिया। दिल्ली में डॉक्टरों ने करीब 4 घंटे तक उसका ऑपरेशन किया और अंगूठा पहले की तरह जोड़ दिया। जिसमें महज 3 लाख का खर्च आया।

thumb cut successfully operation in delhi hospital man reached on dubai
Author
Delhi, First Published Dec 4, 2021, 2:59 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

दिल्ली. भारतीय डॉक्टरों के इलाज के तरीके की पूरी दुनिया कायल है। दिल्ली के डॉक्टरों की एक टीम ने कुछ ऐसा ही कमाल कर दिखाया है जिनकी तारीफ हर कोई कर रहा है। क्योंकि उन्होंने दुबई से आए एक युवक का कटा हुआ अंगूठा 22 घंटे बाद पहले की तरह जोड़ दिया। जबकि उसका 300 एमएल तक खून बह चुका था और वहां के डॉक्टरों ने इसे जोड़ने में बहुत ज्यादा खर्च बताया था। लेकिन हमारे डॉक्टरों ने   नामुमकिन को मुमकिन करते हुए यह चमत्कार कर दिखाया।

24 लाख का ऑपरेशन 3 लाख में यूं कर दिखाया
दरअसल, राजस्थान के रहने वाले संदीप कुमार दुबई में नौकरी करने के लिए गए हुथे। लेकिन वहां पर जब उसे कोई जॉब नहीं मिला तो संदीप  दुबई में ही कारपेंटर काम करने लगा। इसी दौरान काम करते वक्त आरी से अंगूठा कटकर अलग हो गया था। वह जैसे-तैसे वहां अस्पताल तक पहुंचा, लेकिन डॉक्टरों ने जो खर्चा बताया वह सुन उसके होश उड़ गए। दुबई के डॉक्टरों ने कहा-अंगूठे को जोड़ने के लिए 24 लाख का खर्चा आएगा। युवक ने इतना महंगा इलाज सुन भारत में ट्रीटमेंट कराने का फैसला लिया। उसने दिल्ली में अपने दोस्तों को अस्पताल में पहुंचाया और वहां से सारी जानकारी ली। इसके बाद परिवार ने युवक को दुबई लाने का फैसला किया।

हथेली से हुआ अलग..जिसे जोड़ना था कठिन
बता दें कि संदीप फ्लाइट से 18 घंटे के सफर करने के बाद दिल्ली पहुंचा। जहां उसके परिवार वाले उसे आकाश हॉस्पिटल लेकर पहुंचे। यहां डॉक्टरों ने करीब 4 घंटे तक उसका ऑपरेशन किया। डॉक्टर आशीष चौधरी की टीम ने युवक की सफल  सर्जरी करते हुए उसका टूटा अंगूठा पहले की तरह जोड़ दिया। जिसमें महज 3 लाख 65 हजार रुपए का खर्च आया। डॉक्टर चौधरी ने कहा-युवक का खून अधिक बह जाने से अंगूठा को जोड़ना बेहद ही कठिन था। वह भी जब उसे हथेली से अलग हुए काफी वक्त हो चुका था। लेकिन हमारी टीम ने वह कमाल कर दिखाया।

हे निर्दयी मां... मैं अभी जिंदा हूं, 3 दिन के बच्चे को जिंदा दफनाया, एक चमत्कार से बच गई नन्हीं जान

 

दिल को छू लेने वाली खबर: बिल्लियों ने बचाई नवजात की जान, माता-पिता ने मासूम को छोड़ दिया था मरने

Hamidia Fire Case: 4 लाख मुआवजे के लालच में 2 दिन की बच्ची को बताया लापता, पुलिस ने ढूंढा तो घर में मिली

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios