शिमला. हिमाचल के शिमला में जिस किसी ने शहीद की विधवा पत्नी के जज्बे को देखा वो सलाम किए बिना रह नहीं सका। वह शादी के जोड़े में दुल्हन की तरह श्रंगार करके अपने जबांज सैनिक पति को रोते बिलखते हुए आखिरी विदाई देने पहुंची थी। यह मंजर देखकर वहां मौजूद हर आंख नम हो गई। हर कोई इस वीरांगना की हिम्मत दिखते हुए कह रहा था कि यह भी अपने पति तरह बहादुर है।

पति के अंतिम संस्कार में  सज-धजकर आई थी पत्नी
दरअसल, बुधवार सुबह पुलिस जवान 27 वर्षीय वीरेंद्र सिंह का पैतृक गांव कांगड़ा के मुल्थान में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। जहां उनकी पत्नी दुल्हन के लिबास में सज-धजकर आई थीं। पुलिस जवानों ने वीरेंद्र की पत्नी को तिरंगा भी भेंट किया। इसके बाद पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। 

पर्यटकों की मदद करते हुए बर्फबारी में फंस गया था जवान
बता दें कि 6 जनवरी की शाम पुलिस जवान वीरेंद्र सिंह हिमाचल प्रदेश के शिमला में बर्फबारी के बीच फंसे पर्यटकों की मदद करते हुए हादसे का शिकार हो गए थे। पुलिस की एक टीम कुफरी और छराबड़ा क्षेत्र में लोगों की मदद के लिए जीप से जा रहे थे। इस दौरान उनके दल में 6 जवान शामिल थे। उनकी गाड़ी जैसे ही चीनी बंगला के पास पहुंचा तो वह बर्फ पर फिसल गई और 100 मीटर गहरी खाई में जा गिरी। हादसे के दौरान वीरेंद्र की रीड की हड्डी टूट गई थी।

हादसे में टूट गई थी रीड की हड्डी
जवान वीरेंद्र की रीढ़ की हड्‌डी टूटने के बाद उनको IGMC शिमला में भर्ती कराया गया था। जहां उनका पिछले एक सप्ताह से इलाज चल रहा था। इसी दौरान सोमवार शाम जवान ने दम तोड़ दिया। SP शिमला मोहित चावला ने जवान की मौत की पुष्टि की थी। 

पिता की हो चुकी है मौत, मां रहती है बीमार
बता दें कि वीरेंद्र की हादसे में मौत के बाद पूरा परवार टूट गया है । वह अपने घर के इकलौते कमाने वाले थे। उनका परिवार की आर्थिक स्थिति हालत काफी खराब है। हालांकि जवान चार भाई हैं। पिता की पिछले साल मौत हो गई है। मां बीमार रहती हैं। वहीं उसका खुद का सवा साल का बेटा है। पति बेसुध अवस्था में पड़ी रहती थी।