Asianet News HindiAsianet News Hindi

मुलाकात हुई, क्या बात हुई? कैप्टन अमरिंदर से मिले पंजाब के CM चरणजीत सिंह चन्नी, सियासी अटकलें तेज..

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी गुरुवार को अचानक मोहाली के सिसवां स्थित कैप्टन अमरिंदर सिंह के फॉर्म हाउस पर मिलने पहुंच गए। मुख्यमंत्री बनने के बाद चन्नी की कैप्टन से यह पहली मुलाकात है। 

Punjab cm charanjit singh channi meet captain amarinder singh in mohali
Author
Mohali, First Published Oct 14, 2021, 7:52 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मोहाली: पंजाब (Punjab) की सियासत में इन दिनों हर रोज कुछ नया देखने को मिल रहा है। गुरुवार को भी उस वक्त कुछ ऐसा हुआ जब अचानक से बड़ा सियासी घटनाक्रम देखने को मिला। हुआ कुछ यूं कि मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (charanjit singh channi) गुरुवार को अचानक मोहाली के सिसवां स्थित कैप्टन अमरिंदर सिंह (amarinder singh)के फॉर्म हाउस पर मिलने पहुंच गए। मुख्यमंत्री बनने के बाद चन्नी की कैप्टन से यह पहली मुलाकात है। सीएम चन्नी के साथ उनकी पत्नी और बेटे-बहू भी थे। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चन्नी के शपथ ग्रहण कार्यक्रम और बेटे की शादी से भी दूरी बना रखी थी लेकिन अचानक इस मुलाकात से एक बार फिर पंजाब की सियासत में अटकलों का बाजार गर्म हो गया है। 

पहले इनकार, अब इकरार
जब कैप्टन ने मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़ी थी, तब उनके खिलाफ बगावत करने वाले 4 बड़े मंत्रियों में सीएम चरणजीत सिंह चन्नी भी शामिल थे। वह पंजाब में बगावत की जमीन तैयार कर देहरादून तक गए। चन्नी ने जिस दिन मुख्यमंत्री पद की शपथ ली तो कैप्टन ने उन्हें सिसवा फॉर्म हाउस पर लंच का न्योता दिया लेकिन उन्होंने व्यस्तता का हवाला देते हुए इनकार कर दिया था और बाद में सिद्धू के साथ विधायक परगट सिंह के घर लंच के लिए चले गए थे।

दिल्ली में सिद्धू, पंजाब में मुलाकात
कैप्टन अमरिंदर सिंह और चरणजीत सिंह चन्नी की मुलाकात ऐसे समय हुई, जब नवजोत सिंह सिद्धू (navjot singh sidhu) की दिल्ली (delhi) में हाईकमान के सामने पेशी की खबर थी। उससे ठीक पहले चन्नी और कैप्टन की मुलाकात की खबरों ने सियासी पारा चढ़ा दिया है। सीएम पद खोने के बाद अमरिंदर सिंह लगातार सिद्धू और कांग्रेस के खिलाफ बयान दे रहे हैं। हाल ही में अमरिंदर सिंह ने BSF को सशक्त बनाने के केंद्र के कदम का भी समर्थन किया है।

इसे भी पढ़ें-वरुण गांधी का किसानों के बहाने सरकार पर निशाना, शेयर किया 41 साल पुराना वाजपेयी का वीडियो, बहुत कुछ है इसमें.

सिद्धू को जवाब या कोई नई रणनीति?
मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी और सिद्धू के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा। सिद्धू लगातार उनकी सरकार पर हमले कर रहे हैं। कभी डीजीपी और एडवोकेट जनरल की नियुक्ति के बहाने तो कभी हाईकमान के एजेंडे के बहाने सिद्धू CM चन्नी पर निशाना साधते रहे हैं। इसी वजह से दोनों के बीच दूरियां बढ़ती जा रही हैं। माना जा रहा है कि इसी वजह से चन्नी की कैप्टन से मुलाकात की जमीन तैयार हुई। चर्चा यह भी है कि चन्नी अब सिद्धू को उन्हीं की भाषा में जवाब देना चाह रहे हैं।

कैप्टन को साधने की कवायद
कांग्रेस (congress) हाईकमान इस वक्त नवजोत सिद्धू से नाराज चल रहा है। कैप्टन के विरोध के बावजूद हाईकमान ने सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया। उसके बाद सिद्धू और उनके साथियों की जिद पर कैप्टन को सीएम की कुर्सी से हटाया गया। कांग्रेस को उम्मीद थी कि इसके बाद राज्य में सब ठीक हो जाएगा लेकिन उससे पहले ही नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और सिद्धू के बीच तकरार शुरू हो गई। हाईकमान को लगता था कि सिद्धू पंजाब में पार्टी के लिए अहम साबित होंगे मगर सिद्धू ने नई सरकार के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया। ऐसे में इस मुलाकात को चरणजीत चन्नी के जरिए कैप्टन को साधने की कवायद के रूप में भी देखा जा रहा है।

इसे भी पढ़ें-लखीमपुर केस : कैसे हुई हिंसा, कैसे कुचले गए किसान? सब जानिए..आशीष मिश्रा के साथ क्राइम सीन रिक्रिएट

कैप्टन ने कई दफा की चन्नी की तारीफ
मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सीएम चन्नी की कई मौकों पर तारीफ की है। कैप्टन ने चन्नी को बेहतरीन और पढ़ा-लिखा मंत्री बताया था। एक बार उन्होंने यह भी कहा था कि चन्नी को गृह मामलों की समझ कम है। हालांकि अभी तक ये साफ नहीं हो सका है कि दोनों की मुलाकात के बीच का एजेंडा क्या है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios