Asianet News HindiAsianet News Hindi

राजस्थान में गरमाई राजनीतिः पहले पायलट को खुलेआम मंत्री ने दी धमकी, अब गुर्जर समाज के लोगों के पीछे लगाई पुलिस

राजस्थान में सोमवार के दिन गुर्जर समाज के दिग्गज नेता किरोड़ी सिंह बैंसला की अस्थियों के विसर्जन के समय हुई जनता की हूटिंग व सचिन पायलट के नाम के नारे और कांग्रेस नेताओं की हुई बेइज्जती पर नया बुधवार के दिन नया मोड़ आ गया। मंत्री अशोक चांदना ने जूते-चप्पल फेंकने वालों की पुलिस शिकायत की।

ajmer news congress state minister ashok chandna filed FIR against people who threw shoes at him asc
Author
First Published Sep 14, 2022, 11:10 AM IST

अजमेर. सोमवार दोपहर अजमेर के पुष्कर में कर्नल किरोडी सिंह बैसला के अस्थि विसर्जन कार्यक्रम में भाषण दे रहे खेल मंत्री अशोक चांदना पर जूते - चप्पल फेंकने और पायलट के समर्थन में नारेबाजी करने के मामले में नया मोड़ सामने आया है। पहले जहां मंत्री अशोक चांदना ने ट्विटर पर सचिन पायलट को धमकी दी थी। तो वहीं अब खुद के ऊपर जूते फेंकने वाले लोगों के पीछे पुलिस लगा दी है। मामले को लेकर पुष्कर पुलिस ने 5 से 6 लोगों के खिलाफ नामजद मामला दर्ज किया है।

इन लोगों के खिलाफ हुआ केस दर्ज
पुष्कर पुलिस ने बताया कि सभा में शामिल गोपाल गुर्जर, गिरधारी गुर्जर,सांवरलाल गुर्जर, विक्की गुर्जर और जगमाल गुर्जर समेत अन्य कार्यकर्ताओं ने योजना के तहत सभा को संबोधित करने वाले अशोक चांदना के भाषण के दौरान विरोध शुरू किया। जिन्होंने पहले तो सचिन पायलट जिंदाबाद के नारे लगाए। और इसके बाद जूते वगैरह खाली मंच की तरफ फेंके। ऐसे में मौके पर मौजूद पुलिस ने मोर्चा संभाला। अब फिलहाल इन नामजद लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। जिसकी जांच करते हुए जल्द ही गिरफ्तारी की जाएगी। 

नामजद लोगों में 2 कार्यकर्ता भी शामिल
अशोक चांदना के भाषण के दौरान विरोध करने के मामले में पुष्कर पुलिस ने जिन आरोपियों को एफआईआर में नामजद किया है उनमें दो आरोपी गुर्जर समाज के कार्यकर्ता हैं। जो बैसला के समय से ही समाज में एक्टिव है। पुष्कर में हुए आयोजन की समान भी इन्हीं दो कार्यकर्ताओं के हाथ में थी। अब मामले में यदि इनकी गिरफ्तारी होती है तो गुर्जर समाज इसका भी पड़ा विरोध कर सकता है। हालांकि मामले में पुलिस का कहना है कि हर एक तथ्य को ध्यान में रखकर ही जांच की जाएगी। 

यह था घटनाक्रम
दरअसल पुष्कर में कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के अस्थि विसर्जन का पुष्कर में कार्यक्रम था। इसी दौरान कार्यक्रम में सभी राजनेताओं को आमंत्रित किया गया था। लेकिन जैसे ही खेल मंत्री अशोक चांदना मंच पर भाषण देने के लिए आए तो सभा में मौजूद हजारों लोगों ने सचिन पायलट जिंदाबाद के नारे लगाना शुरू कर दिए और मंत्री की तरफ जूते चप्पल और पानी की खाली बोतलें फेंकना शुरू कर दी थी । इस बात से मंत्री अशोक चांदना और कांग्रेसी कार्यकर्ता इतने नाराज हुए कि बीच कार्यक्रम को ही छोड़ कर चले गए। 

आपको बता दें कि इस कार्यक्रम के बाद कांग्रेस पार्टी की फूट एक बार फिर उजागर हुई थी। मंत्री अशोक चांदना ने सचिन पायलट को ट्वीट कर यह धमकी भी दे दी थी कि मुझ पर जूता फिंकवाकर कर यदि सचिन पायलट मुख्यमंत्री बनना चाहे तो जल्दी से बन जाए आज मेरा लड़ने का मूड नहीं है। क्योंकि जिस दिन मैं लड़ाई करने आया तो एक आदमी ही बचेगा।

यह भी पढ़े- राजस्थान में फिर एक्टिव हुआ मानसून: पूर्वी और पश्चिमी इलाके में भारी बारिश का अलर्ट, तीन दिन नहीं मिलेगी राहत

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios