Asianet News HindiAsianet News Hindi

डूबने का शॉकिंग वीडियोः मूर्ति के साथ पानी में डूबे एक को बचाने के चक्कर में 5 और मरे, गांव में मचा कोहराम

 विजयादशमी के दिन अजमेर के नसीराबाद इलाके में मूर्ति विसर्जन के दौरान डूबने से 6 लोगों की मौत हो का खौफनाक वीडियो गुरुवार के दिन सामने आया है। लोगों ने मूर्ति विसर्जन वाली जगह पर सुरक्षा के इंतजाम नहीं करने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

ajmer shocking news six people died sinking in pond during durga visarjan asc
Author
First Published Oct 6, 2022, 2:39 PM IST

अजमेर. विजयादशमी के दिन अजमेर के नसीराबाद इलाके में मूर्ति विसर्जन के दौरान डूबने से 6 लोगों की मौत हो गई। पानी में गहराई में गए एक युवक को बचाने के लिए अन्य 5 लोग भी उसके पीछे चले गए। इसके बाद सभी एक साथ पानी में डूब गए। करीब 2 घंटे के बाद सभी शवों को बाहर निकाला जा सका था। इसके बाद नसीराबाद की मोर्चरी में ही शव का पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों को सौंपे गए।  गुरुवार को इस हादसे का एक वीडियो सामने आया है। जो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।

माता की मूर्ति विसर्जन के दौरान हुआ हादसा
दरअसल अजमेर के नसीराबाद इलाके के नांदला तालाब पर पास की ही नंदा जी की ढाणी से करीब 30 लोग मूर्ति विसर्जन करने के लिए आए थे। इसी दौरान एक युवक की मूर्ति विसर्जित करने के लिए पानी में आगे की तरफ चला गया था। जहां गहराई भी काफी ज्यादा थी। जब वह डूबने लगा तो किनारे खड़े पांच लोगों ने उसे बचाने की कोशिश करते हुए पानी में छलांग लगा दी। लेकिन वह भी पानी में गहराई की तरफ चले गए। ऐसे में सभी एक साथ डूब गए। मौके पर खड़े लोगों ने उन्हें डूबते देखा तो बचाने की काफी कोशिश भी की लेकिन उनकी हर एक कोशिश नाकाम रही। 

गोताखोरों की  मदद से शव बाहर आए
इसके बाद पुलिस और स्थानीय गोताखोरों को मौके पर बुलाया गया जहां से शवों को बाहर निकलवा कर पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी भिजवाया गया। इस घटना में पवन, राहुल,राहुल,लकी,गजेंद्र,शंकर की मौत हो गई थी। जैसे ही परिजनों को इसकी सूचना मिली तो मोर्चरी के बाहर कोहराम सा मैच गया था। आज शवों का पोस्टमार्टम करवाने के बाद अंतिम संस्कार किया गया है।

प्रशासन और पुलिस की बड़ी लापरवाही
अजमेर में हुए इस हादसे की बात करें तो इसमें पुलिस और प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आई है। क्योंकि विजयादशमी के दिन इस तालाब में करीब आसपास की 20 से ज्यादा मूर्तियों का विसर्जन किया जाता है। ऐसे में यहां सैकड़ों की संख्या में लोग पहुंचते हैं। इसके बाद भी मैं तो यहां सुरक्षा के लिहाज से कोई पुलिस जाब्ता तैनात किया गया पर विराम और ना ही कोई सुरक्षा के साधन उपलब्ध करवाए गए। घटना के बाद अब प्रशासन भी जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कर रहा है।

यह भी पढ़े- मां की गोद में बैठ गरबा देख रही बच्ची के सिर में लगी गोली, खोपड़ी से निकला खून का फव्वारा और मौत

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios