जयपुर, राजस्थान. सारी दुनिया में हाहाकार मचाने वाले कोरोना संक्रमण को लेकर अभी तक कोई ठोस दवा सामने नहीं आ पाई है। दुनियाभर में कोरोना संक्रमण को रोकने वैक्सीन और दवाइयों पर रिसर्च चल रही है, इस बीच योग गुरु बाबा रामदेव ने दवा खोजने का दावा करके सनसनी फैला दी है। पतंजलि ने कोरोनिल नामक टैबलेट लांच की है। दावा किया गया है कि इससे कोरोना दूर हो जाएगा। इस मामले को लेकर सियासत गर्मा गई है। राजस्थान के एक डॉ. संजीव गुप्ता ने पुलिस में इसकी शिकायत की है। उनके द्वारा की गई शिकायत सोशल मीडिया पर वायरल हुई है।

उधर, केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने मीडिया से बातचीत में कहा, मंत्रालय से अनुमति के बिना अपनी दवाई की घोषणा नहीं करना चाहिए था। पूरे मामले को टॉस्क फोर्स को भेजा है। उन्होंने कहा कि पतंजलि ने कोई भी अनुमति नहीं ली। बाबा रामदेव से जो जवाब मांगे गए थे, उन्होंने उसका जवाब भेजा है। आयुष मंत्री श्रीपद नाईक ने कहा, पतंजलि के जवाब और मामले की टास्क फोर्स समीक्षा करेगी कि उन्होंने क्या फार्मूला अपनाया है। इसके बाद ही अनुमति दी जाएगी। आयुष मंत्री ने कहा, इजाजत नहीं लेना ही हमारी आपत्ति है। अगर कोई दवा मार्केट में लाता है तो खुशी की बात है, लेकिन पहले इजाजत लेनी चाहिए थी। आयुष मंत्रालय भी कोरोना पर दवा बनाने पर काम कर रहा है। जुलाई महीने तक आयुष मंत्रालय भी कोरोना वायरस की दवा मार्केट में लेकर आ सकता है। 

3 दिन में 69 रोगी ठीक करने का दावा..
बाबा रामदेव ने दावा किया है कि उन्होंने देश के अलग अलग शहरों के 280 रोगियों पर दवा का ट्रायल किया था। इसमें से सभी ठीक हो गए। यानी3 दिन के अंदर 69 फीसदी रोगी ठीक हुए। पतंजलि की कोरोनिल में गिलोय, तुलसी और अश्वगंधा है। यह इम्युनिटी बढ़ाता है। 

राजस्थान में शिकायत..
जयपुर के गांधीनगर थाने में डॉ. संजीव गुप्ता ने बाबा के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। इसमें कहा गया है कि बाबा लोगों को गुमराह कर रहे हैं।