Asianet News HindiAsianet News Hindi

बड़ी शातिर निकली ये बहू, फुल प्लानिंग कर अपने ही घर को कर दिया बर्बाद, पढ़ें महिला का कारनामा

हैरान कर देने वाला यह मामला झुंझुनूं शहर का है। जहां 11 जून को हुई लाखों की लूट का पर्दाफाश अब जाकर हुआ है। इस वारदात को अंजाम बहू ने अपने रिश्तेदारों के साथ मिलकर दिया था। जिसके लिए उसने पूरी योजना बनाई थी

Daughter-in-law loot incident exposed
Author
Jhunjhunu, First Published Jul 2, 2020, 3:07 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

झुंझुनूं (राजस्थान). कहते हैं कि बहू लक्षमी का रूप होता है, जिसके आने से घर में समृद्धि आती है। लेकिन राजस्थान में चौंका देने वाला मामला सामने आया है। जहां एक शातिर बहू ने अपने ही घर को लुटेरों के साथ मिलकर प्लानिंग कर लुटवा डाला।

महिला ने रोते हुए कबूला अपना गुनाह
दरअसल, हैरान कर देने वाला यह मामला झुंझुनूं शहर का है। जहां 11 जून को हुई लाखों की लूट का पर्दाफाश अब जाकर हुआ है। इस वारदात को अंजाम बहू ने अपने रिश्तेदारों के साथ मिलकर दिया था। जिसके लिए उसने पूरी योजना बनाई थी, लेकिन पुलिस ने कड़ाई से की पूछताछ में उसने अपना गुनहा कबूल कर लिया।

रात को बहू ने चोरों के लिए खोल रखी खिड़की
पुलिस अधीक्षक जेसी शर्मा ने यह वारदात फौजी रवि सिंह के घर हुई थी। जिस रात यह लूट हुई उस वक्त घर में रवि सिंह की मां, बहन और पत्नी बबीता व उसके दो बच्चे मौजूद थे। जहां लुटेरों ने घर के सदस्यों को बंधक बनाकर लाखों रुपए के सोने-चांदी के जेवर लूटकर फरार हो गए थे। अब पुलिस ने दो हफ्तों के बाद इस मामले का खुलासा किया है। हरियाणा से तीन आरोपियों मुकेश, दीपक और नकुल को गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन इस गुनाह की असली सूत्रधार घर की बहू बबीता थी। जिसने वारदात के समय पीछे की खिड़की खुली छोड़ रखी थी। 

पुलिस को बहू पर ऐसे हुआ शक
जब पुलिस घरवालों से पूछताछ कर रही थी तो बहू सबसे ज्यादा रो रही थी। इसलिए पुलिस का उस पर शक गहराता गया। जब उससे इस बारे में पूछा गया तो वह हर बार गलत जानकारी देती रही। बाद में जब सभी आरोपियों के सामने पूछताछ की गई तो सारा मामला अपने आप सामने आ गया।

5 महीने पहले कर ली थी लूट की प्लानिंग
आरोपी महिला ने कहा ससुरालवाले उसके मायके वालों से जबरन गाड़ी की मांग कर रहे थे। इसलिए उसने इस लूट की योजना बनाई, ताकि घर में पड़े गहनों को लूटने के बाद गाड़ी खरीदकर दे देंगे। इस वारदात की प्लानिंग चार पांच महीने पहले यानि फरवरी में कर ली थी। लेकिन बबीता को अपनी ननद के आने का इंतजार था। ताकि उसके गहनों को भी लूटा जा सके।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios