Asianet News HindiAsianet News Hindi

दौसा डॉक्टर सुसाइड केस : करीब एक महीने बाद पुलिस के हाथ आया मुख्य आरोपी, जयपुर से गिरफ्तार

सीएम अशोक गहलोत ने दुख जताते हुए कहा था कि हम सभी डॉक्टरों को भगवान का दर्जा देते हैं। डॉक्टर मरीज की जान बचाने के लिए अपना पूरा प्रयास करते हैं लेकिन कोई भी दुर्भाग्यपूर्ण घटना होते ही डॉक्टर पर आरोप लगाना कहीं से भी उचित नहीं है। अगर इस तरह डॉक्टरों को डराया जाएगा तो वे निश्चिन्त होकर अपना काम कैसे कर पाएंगे। 

Dausa doctor suicide case Main accused arrested from Jaipur stb
Author
Jaipur, First Published Apr 28, 2022, 1:04 PM IST

जयपुर : राजस्थान (Rajasthan) के दौसा (Dausa) में पिछले महीने डॉ. अर्चना शर्मा (Archana Sharma) सुसाइड केस में बड़ी खबर सामने आई है। मुख्य आरोपी बाल्या जोशी आखिर पुलिस की पकड़ में आ ही गया। उस पर पुलिस और इंडियन मेडिकल काउंसिल ने इनाम रखा था। वह काफी समय से फरार चल रहा था, लेकिन गुरुवार को पुलिस ने उसे पकड़ लिया। अर्चना शर्मा के सुसाइड के बाद इतना बवाल मचा था कि पूरे राजस्थान के डॉक्टर हड़ताल पर चले गए थे। पूरे मामले में सरकार तक को दखल देनी पडी थी। भाजपा (BJP) के कई नेताओं की भूमिका भी इस मामले में संदिग्ध पाई गई थी। 

दौसा से दिल्ली तक बवाल
दरअसल, दौसा के लालसोट रोड पर स्थित डॉक्टर अर्चना शर्मा के निजी अस्पताल में एक प्रसूता की मौत हो गई थी। बताया जा रहा है कि उसकी मौत के बाद परिजन शव को ले गए थे लेकिन कुछ लोग अपने राजनीतिक और आर्थिक फायदे के लिए प्रसूता के शव को वापस अस्पताल ले आए और अस्पताल के बाहर बैठकर धरना शुरू कर दिया। इसके बाद कई नेता भी वहां आ पहुंचे और सैंकड़ों लोग धरना पर बैठे रहे। डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए लाखों रुपए मुआवजा भी मांगा गया। इस पूरे मामले में पुलिस की भूमिका भी संदिग्ध थी। पुलिस ने डॉक्टर के खिलाफ सीधे ही हत्या का केस दर्ज कर लिया था। 

डॉक्टर ने फांसी लगा ली
जेल जाने के डर से परेशान होकर अर्चना शर्मा तनाव में आ गई और एक सुसाइड नोट छोड़कर 29 मार्च को सुसाइड कर लिया। उसके बाद तगड़ा बवाल मचा। दो घंटे से लेकर 12 घंटों तक अस्पताल बंद रहे। जयपुर (Jaipur) से लेकर दिल्ली (Delhi) तक धरने प्रदर्शन हुए। नतीजा ये रहा कि कई पुलिसवालों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा और बाद में कई भाजपा नेता भी पकड़े गए। अर्चना के डॉक्टर पति के और उनकी बेटी के भी कई वीडियो वायरल हुए थे। पुलिस ने आधा दर्जन आरोपियों में से कई लोगों को पकड़ लिया था। बाल्या जोशी जो मुख्य आरोपी था, वह फरार चल रहा था। आज उसकी भी गिरफ्तारी जयपुर से की गई।

इसे भी पढ़ें-दौसा डॉक्टर सुसाइड मामला : किरकिरी के बाद जागी अशोक गहलोत सरकार, ताबड़तोड़ एक्शन लिए, एसपी को भी नाप दिया

इसे भी पढ़ें-नाबालिग से गैंगरेप में फंसा कांग्रेस MLA का बेटा, BJP ने प्रियंका गांधी को टिकट भेजा, कहा- न्याय दिलाने आ जाओ

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios