Asianet News HindiAsianet News Hindi

क्या मेरे पापा मर जाएंगे..., लाचार पिता के मासूम बच्चे डरते हुए इस पूछते हैं ऐसे सवाल

यह राजस्थान के सिरोही जिले के रहने वाले राजकुमार। नाम भले ही राजकुमार हो, लेकिन इनकी और इनके परिवार की जिंदगी भूखों मरने की स्थिति में पहुंच गई है। परिवार में 4 बच्चे हैं। सब पिता की तकलीफ से मायूस हैं। जानिए पूरा मामला...
 

Emotional story of a poor family living in Sirohi, Rajasthan
Author
Sirohi, First Published Nov 23, 2019, 1:59 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

सिरोही (राजस्थान). जिंदगी में कब, कैसा मोड़ आ जाए, कोई नहीं जानता। सिरोही की राधिका कॉलोनी में रहने वाले 38 वर्षीय राजकुमार प्रजापत के साथ ऐसा ही कुछ हुआ। कुछ साल पहले तक उनकी जिंदगी अच्छे से गुजर रही थी। उनके 4 बच्चे हैं। सभी खुश थे। फिर आया जिंदगी में विकट मोड़। करीब 8 साल पहले साइकिल से गिरने पर राजकुमार के पैर की हड्डी टूट गई थी। यही हड्डी अब हंसती-खेलती जिंदगी में फांस बन गई है।

कैंसर ने छीनी खुशियां


राजकुमार बताते हैं कि एक्सीडेंट में उनके जांघ की हड्डी टूटी थी। डॉक्टरों ने ऑपरेशन करके रॉड डाली थी। घटना के बाद 6 साल तक जिंदगी ठीक-ठाक चलती रही। अचानक घुटनों के ऊपर सूजन आने लगी। इसके बाद राजकुमार हॉस्पिटलों के चक्कर काटने लगा। लेकिन कहीं भी ठीक से उपचार नहीं मिला। नतीजा सूजन बढ़ती गई। अब एक पैर हाथी पांव की तरह फूल गया है। जोधपुर स्थित एम्स में चेकअप कराने पर मालूम चला कि उसे हड्डी का कैंसर हो गया है।

इलाज के लिए नहीं पैसे


राजकुमार ने बताया कि इलाज पर अब तक 8 लाख रुपए खर्च कर चुके हैं। डॉक्टरों ने कहा है कि अगर पैर न काटा गया, तो जान भी जा सकती है। पति की हालत देखकर पत्नी टूट चुकी है। बच्चे मायूस होकर लोगों से डरते-डरते सिर्फ एक ही सवाल पूछते हैं- क्या उनके पापा मर जाएंगे। परिवार के लिए दो वक्त की रोटी का इंतजाम करने 15 साल का बड़ा लड़का पढ़ाई-लिखाई छोड़कर मजदूरी कर रहा है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios