सरकारी स्कूल के बच्चों ने पिया पाउडर वाला दूध, तबीयत बिगड़ने पर पहुंचे अस्पताल, बाल गोपाल योजना पर उठा सवाल

| Dec 02 2022, 07:04 PM IST

सरकारी स्कूल के बच्चों ने पिया पाउडर वाला दूध, तबीयत बिगड़ने पर पहुंचे अस्पताल, बाल गोपाल योजना पर उठा सवाल

सार

राजस्थान में गहलोत सरकार ने इसी सप्ताह से ही स्कूलों में दूध पिलाने की योजना शुरू की है। यह स्कीम बाल गोपाल योजना के अंतर्गत की गई है। पर हनुमानगढ़ जिले में दूध पीने के बाद पेट दर्द की शिकायत होने पर बच्चों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। सभी की हालत में सुधार है।

हनुमानगढ़ (hanumangarh). खबर हनुमानगढ़ जिले से है सरकार ने पिछले दिनों ही पूरे राजस्थान में बाल गोपाल योजना शुरू की है। इस स्कीम के तहत प्रदेश के सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को सरकार की ओर से मुफ्त दूध पीने के लिए दिया जाना है । इस योजना को इसी सप्ताह से मूर्त रूप दिया गया है और सोमवार से ही बच्चों के लिए दूध का प्रबंधन शुरू किया है। पर इसको लेकर एक चिंताजनक खबर सामने आई है।

दूध पीने के बाद बिगड़ी बच्चों की तबीयत, स्कूल में मचा हड़कंप
आज हनुमानगढ़ जिले में स्थित एक सरकारी स्कूल में दूध पीने से कई बच्चों की तबीयत खराब हो गई। अचानक एक के बाद एक बच्चे उल्टी करने लगे तो हड़कंप मच गया। प्रशासनिक अधिकारियों को इसकी सूचना दी गई तो जिला शिक्षा अधिकारी भी मौके पर आ पहुंचे। बाद में सभी बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। जानकारी के अनुसार सभी की हालत में सुधार है। दरअसल जिले में टाउन इलाके में स्थित राधाकिशन बिहानी राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में यह घटनाक्रम हुआ। आज करीब 10:00 बजे बाद जब बच्चे स्कूल पहुंचे तो उन्हें पाउडर का दूध दिया गया। पानी में मिलाकर दूध को गर्म किया और बच्चों को दिया गया तो कुछ देर बाद ही बच्चों की तबीयत खराब होने लगी।

Subscribe to get breaking news alerts

300 बच्चों ने पेट दर्द की शिकायत की बाद में  25 हुए एडमिट
दूसरी, तीसरी, चौथी और पांचवी कक्षा के करीब 300 बच्चों ने पेट दर्द की शिकायत की बाद में अधिकतर बच्चों का पेट में दर्द सही हो गया। लेकिन करीब 25 बच्चों को नजदीक ही राजकीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। पता चला कि सभी बच्चों ने सवेरे घर से निकलने से पहले नाश्ता नहीं किया था। माना जा रहा है कि खाली पेट गर्म दूध पीने से पेट में गैस और अन्य तरह की समस्याएं होने के कारण यह समस्या सामने आई है।

हेल्थ विभाग ने लिए दूध के सैंपल
सभी बच्चों को स्वस्थ होने के बाद शाम से पहले अवकाश दे दिया गया।  स्कूल के प्रधानाचार्य ने बताया कि जो पाउडर वाला दूध सरकार की ओर से सप्लाई किया गया था वही दूध बच्चों को दिया गया। 4 से 5 दिन से लगातार यही दूध बच्चों को दिया जा रहा है लेकिन आज दूध पीने के बाद कुछ बच्चों की तबीयत खराब होना सामने आया है। फिलहाल दूध के सैंपल ले लिए गए हैं और हेल्थ विभाग की टीम ने भी जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

  घटना की सूचना जयपुर मुख्य शिक्षा अधिकारियों तक भेज दी गई है। उल्लेखनीय है कि सरकार ने अभी चंद दिन पहले ही स्कूली बच्चों को फ्री दूध और फ्री यूनिफॉर्म उपलब्ध करवाई है।

यह भी पढ़े- वोटर साधने की CM गहलोत की नई तरकीबः रीलॉन्च की बाल गोपाल दूध और यूनिफॉर्म योजना, इस दिन मिल्क बाटने की बात कही