Asianet News HindiAsianet News Hindi

राजस्थान मौसम के ताजा हालःप्रदेश में फिर लौटेगा मानसून, होगी भारी बारिश, मौसम विज्ञान केंद्र का अलर्ट जारी

राजस्थान में पिछले कुछ दिनों से सुस्त पड़ा मानसून के फिर से एक्टिव हो सकता है। जयपुर स्थित मौसम विभाग ने इसको लेकर अलर्ट जारी किया गया है। मानसूनी गतिविधि प्रदेश में  सेकंड वीक से शुरू हो सकता है। हालाकि इससे पहले से ही हल्की बारिश जारी है।

jaipur weather news monsoon soon will active in state report release by meteorological department asc
Author
First Published Sep 2, 2022, 12:07 PM IST

जयपुर. राजस्थान में रूठा मानसून अब फिर लौटने वाला है। इससे प्रदेश में एकबार फिर झमाझम बारिश का दौर शुरू होगा। मौसम विभाग ने रिपोर्ट जारी कर इसकी संभावना जताई है। रिपोर्ट के अनुसार बंगाल की खाड़ी में बन रहे नए सिस्टम की वजह से राजस्थान में एक बार फिर बारिश का दौर शुरू होगा। जो महीने के दूसरे सप्ताह में होने की उम्मीद है। रिपोर्ट के अनुसार 8 सितंबर से बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव क्षेत्र बनने की संभावना है। जिसके असर से प्रदेश में मानसून की गतिविधियां फिर शुरू होगी। जो हल्की से मध्यम तो कहीं भारी से अति भारी गति से भी होने की संभावना हैं।

सूखा रहेगा पहला सप्ताह, बढ़ेगा तापमान
मौसम विभाग के अनुसार मानसून की गतिविधियां राजस्थान में दूसरे सप्ताह में ही होगी। इससे पहले मौसम सामान्यत: साफ ही रहेगा। जिसमें धूप में तेजी के साथ तापमान में बढ़ोत्तरी होगी। इससे पहले सप्ताह में गर्मी का अहसास बरकरार रहेगा। हालांकि लोकल वेदर एक्टिविटी से छिटपुट बारिश पहले सप्ताह में भी संभव है। पर उससे गर्मी से विशेष राहत मिलने की संभावना है।

हल्की बरसात से मिली राहत
इससे पहले राजस्थान में गुरुवार को भी हल्की बरसात हुई। जो शेखावाटी के सीकर व झुंझुनूं के अलावा राजसमंद, भरतपुर, चित्तोडगढ़़, अलवर व उदयपुर के कई इलाकों में दर्ज हुई। इस दौरान कई जगह मध्यम गति से हुई बरसात से कई निचले इलाकों व सड़कों पर पानी भराव भी हो गया। जिससे राहगिरों को परेशानी का सामना करना पड़ा। बरसात से अंचल में मौसम भी सुहाना हो गया। नमी बढऩे से रात को गर्मी कम रही।

खेती में होगा फायदा
मानसून के फिर सक्रीय होने की उम्मीद किसानों के लिए अच्छी खबर है। क्योंकि प्रदेश में बुवाई से लेकर अब तक समय-समय पर हुई अच्छी बारिश से खरीफ की फसलें लहलहा रही है। अगेती फसलों में दाने बनने की प्रकिया में इस समय फसलों को अतिरिक्त सिंचाई की आवश्यकता है। ऐसे में अगले सप्ताह बारिश की संभावना से उन फसलों की बेहतरी की उम्मीद जग उठी है।

यह भी पढ़े- देश की महिलाओं के लिए मिसाल है ये मां बेटी.... 51 साल की मां ने 25 साल की बेटी के साथ दौड़ी 60 मैराथन......

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios