Asianet News HindiAsianet News Hindi

ऑस्ट्रेलिया जाने के लिए एयरपोर्ट जा रहे दो दोस्तों का अपहरण: एक सड़क किनारे मिला बेहोश, दूसरा लापता

हरियाणा व पंजाब से आस्ट्रेलिया जाने के लिए जयपुर एयरपोर्ट पहुंच रहे दो दोस्तों को अगवा करने का मामला सामने आया है। दोनों ने  जयपुर के सिंधिकैंप बस स्टैंड से सांगानेर एयरपोर्ट के लिए एक कार किराये पर ली थी।

Kidnapping of two friends going to the airport to go to Australia pwt
Author
First Published Sep 20, 2022, 10:06 AM IST

सीकर. हरियाणा व पंजाब से आस्ट्रेलिया जाने के लिए जयपुर एयरपोर्ट पहुंच रहे दो दोस्तों को अगवा करने का मामला सामने आया है। दोनों ने  जयपुर के सिंधिकैंप बस स्टैंड से सांगानेर एयरपोर्ट के लिए एक कार किराये पर ली थी। जिसके बाद दोनों का अपहरण कर लिया गया। उनके साथ मारपीट कर एक को सीकर के पलसाना में सड़क किनारे पटक दिया गया। जबकि दूसरे का अब तक काई सुराग नहीं मिला है। है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

रफ्तार से आई कार से फेंका 
प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार पलसाना के पास सोमवार को बाइपास के पास अचानक एक तेज रफ्तार कार आई। जिसमें से एक युवक को रास्ते पर फेंका गया। इसके बाद कार फिर तेजी से दौड़ पड़ी। जो एकबार तो डिवाइडर से भी टकरा गई। बाद में लोगों ने घायल को संभाला तो उसकी पहचान हरियाणा के करनाल निवासी युवक रजत के रूप में हुई। जो बड़ी मुश्किल से परिजनों के मोबाइल नम्बर बता पाया। इस पर  नजदीकी लोगों ने उसके परिजनों को घटना की जानकारी दी। जिसके बाद उसका दोस्त चंडीगढ़ निवासी गुरप्रीत जयपुर से उसे संभालने पहुंचा। इसके बाद उसे पलसाना अस्पताल ले जाया गया। जहां से उसे  सीकर रेफर कर दिया गया। गुरप्रीत ने बताया कि कि रजत आस्ट्रेलिया जाने के लिए हरियाणा से निकला था। उसके साथ उसका पंजाब का लुधियाना निवासी दोस्त उत्तम भी जाने वाला था। सांगानेर एयरपोर्ट से फ्लाइट पकडऩे के लिए दोनों रविवार को ही जयपुर आ गए थे। जिन्होंने रात सिंधी कैंप के पास एक होटल में गुजारी। इसके बाद वे सुबह ऑटो जयपुर के एमबीएफ मॉल में गए। जहां से ही सीधे एयरपोर्ट जाने के लिए उन्होंने एक कार किराये पर ली। जिसके बाद दोनों का अपहरण कर लिया गया। 

समय पर नहीं पहुंची पुलिस
मामले में रानोली थाना पुलिस की लापरवाही भी सामने आई है। बेहोश मिले रजत की जानकारी लोगों ने परिजनों  के साथ रानोली पुलिस को भी दी लेकिन उसके दोस्त गुरप्रीत के जयपुर से पलसाना पहुंचने तक भी पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। इस पर दोस्त व नजदीकी लोगों ने ही उसे पलसाना के अस्पताल पहुंचाया। 

उत्तम का सुराग नहीं, दोनों के पास थे रुपये
वारदात का शिकार हुए रजत के दोस्त उत्तम का अब तक पता नहीं चला है। जिसकी जांच में देर शाम को हरकत में आई पुलिस जुटी है।  जानकारी के अनुसार दोनों युवकों के पास करीब एक लाख रुपए की भारतीय व विदेशी मुद्रा दोनों थी।

इसे भी पढ़ें-  लाठीचार्ज का विरोधः सीएम के समाज के दो पार्षदों व जिला परिषद सदस्य ने दिया इस्तीफा, रैली निकालकर जताया आक्रोश

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios