Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोटा में 2 मासूम भाइयों का दिनदहाड़े किडनैप, एड़ी चोटी का जोर लगाकर पुलिस को मिली गुड न्यूज

मासूम बच्चों के अपहरण और लापता होने के मामलें में देश में टॉप 3 में आने वाले राजस्थान स्टेट में पुलिस ने एड़ी चोटी का जोर लगा, दिन दहाड़े किडनैप हुए दोनो बच्चों और आरोपी को 9 घंटे के भीतर अरेस्ट कर लिया है।घटना कोटा जिलें की है।

kota news two brothers kidnapped accused arrested by police asc
Author
Kota, First Published Aug 18, 2022, 7:04 PM IST

कोटा. राजस्थान मासूम बच्चों के अपहरण और लापता होने के मामले में देश में टॉप 3 स्टेट में शामिल है।  राजस्थान के कोटा में इसी तरह का एक केस सामने आया है।  एक बदमाश ने एक साथ दो भाइयों के अपहरण की तैयारी की। उसने दोनों बच्चों को घर से निकाल भी लिया। गनीमत रही परिवार ने सही समय पर पुलिस को सूचना दे दी और पुलिस ने एड़ी से चोटी तक का जोर लगाकर 9 से 10 घंटे में बच्चों को बरामद कर ही लिया। दोनों बच्चों को आरोपी अपने साथ दिल्ली ले जाने की फिराक में था।  पुलिस अफसरों का कहना है कि अगर बच्चे दिल्ली पहुंच जाते हैं तो उन्हें बरामद करना थोड़ा मुश्किल हो सकता था।  घटना कोटा शहर के नयापुरा थाना इलाके की है। 

नशे का आदी है आरोपी
पुलिस ने इस मामले में साबिर नाम के एक युवक को गिरफ्तार किया है, वह नशे का आदी है और उसके लिए अक्सर छोटे-मोटे अपराध करता है। जांच कर रही पुलिस ने बताया कि साबिर बच्चों के चाचा रामबाबू का दोस्त है।  बच्चों के पिता भरत ने पुलिस को बताया कि साबिर कुछ समय पहले उनके घर में ही किराए पर रहता था। वह नशा करता था और इस कारण छोटे भाई राम बाबू को भी बिगाड़ दिया था। इसी कारण अक्सर भारत और साबिर का झगड़ा भी होता था। आखिर कुछ दिनों के बाद भरत ने साबिर को घर से निकाल दिया। 

टॉफी दिलाने के बहाने उठा ले गया
आटा चक्की चलाने वाले भरत के ही दोनों बच्चों को साबिर ने किडनैप किया था।  पुलिस ने बताया क्योंकि साबिर परिवार का पुराना जानकार था इस कारण उसने आसानी से इस घटना को अंजाम दिया। वह बुधवार दोपहर भरत के घर आया उस समय भरत के माता-पिता और भरत के दोनों बेटे घर में थे।  पत्नी अंदर कपड़े धो रही थी। साबिर ने सबसे पहले रामबाबू के लिए पूछा। रामबाबू के पिता ने मना किया कि वह घर में नहीं है। इस पर साबिर ने कहा कि वह भूखा है उसे कुछ खाना चाहिए।  इस पर रामबाबू के पिता ने उसे चाय नाश्ता करवा दिया।  इसके बाद वह जाने लगा और भरत के दोनों बच्चों 5 साल के भूपेंद्र और 3 साल के मनु को टॉफी दिलाने के बहाने जबरन अपने साथ ले गया।

पीड़ित पिता लौटा, तब घटना का पता चला
कुछ देर बाद भरत लौटा तो भरत ने माता-पिता से बच्चों के बारे में पूछा।  पिता ने कहा कि उन्हें साबिर ले गया। भरत ने बिना समय गवाएं इस बारे में पुलिस को सूचना दी पुलिस ने जांच पड़ताल की और देर रात साबिर को गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से दोनों बच्चों को मुक्त कराया गया है। प्रारंभिक जानकारी के आधार पर पुलिस ने बताया कि साबिर दोनों बच्चों को दिल्ली ले जाने की तैयारी कर रहा था।  वह भरत और उसके परिवार से बदला लेना चाह रहा था।

यह भी पढ़े- शॉकिंग CCTV: जैसे ही सुनसान जगह पर अकेली दिखी छात्रा, सड़क छाप 'रोमियो' ने दिया खौफनाक क्राइम काे अंजाम

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios