Asianet News HindiAsianet News Hindi

दर-दर ठोकरें खा रहे बूढ़े मां-बाप: एक बेटा पाकिस्तान तो दूसरा देश की जेल में बंद, अब सुनाई तालिबानी सजा

राजस्थान के बाड़मेर जिले से एक बूढ़े माता-पिता की दुखद कहानी सामने आई है। उनका बुजुर्ग दंपत्ति का पहले से ही एक बेटा पाकिस्तान जेल में बंद है। वहीं दूसरा अपने ही जिला कारावास में सजा काट रहा है।

Rajasthan emotional story of old couple of Barmer whose one son is in Pakistan and another is imprisoned in India
Author
Barmer, First Published Oct 7, 2021, 2:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बाड़मेर. राजस्थान के बाड़मेर जिले से एक बूढ़े माता-पिता की दुखद कहानी (emotional story) सामने आई है। उनका बुजुर्ग दंपत्ति का पहले से ही एक बेटा पाकिस्तान (Pakistan) जेल में बंद है। वहीं दूसरा अपने ही जिला कारावास में सजा काट रहा है। इतना दुख कम नहीं था कि अब दबंगों ने उनको गांव छोड़ने का फरमान सुना डाला। आरोपियों ने कहा कि अगर गांव नहीं छोड़ा तो वह घर को ही जला देंगे। आलम यह हुआ हि बुजुर्ग मजबूरी में दूसरे गांव में रहने जाना पड़ा।

ऐसे पाकिस्तानी सरहद में चला गया युवक
दरअसल, पीड़ित परिवार भारत-पाकिस्तान सीमा पर बसे बाड़मेर जिले के 'सज्जन का पार' में रहता है। 11 महीने पहले उनका एक बेटा गेमरा राम अपनी प्रेमिका के साथ गलती से पाकिस्तान की सीमा में चला गया था। जिसके बाद वहां के जवानों ने उसे पकड़ा लिया और जेल में बंद कर दिया। एक साल से पीड़ित परिवार मंत्री विधायक के पास जाकर बेटे को छुड़ाने की गुहार लगा चुका है, लेकिन अभी तक युवक को निकालने की कोई पहल नहीं की गई है।

दूसरा बेटा भी प्रेमिका के चक्कर में जेल गया
वहीं पीड़ित परिवार का दूसरा बेटा पीथमराम कुछ महीने पहले अपने ही गांव की एक लड़की को भगा ले गया। जिसके बाद लड़की के घरवालों ने युवक की शिकायत पुलिस में की। फिर पुलिस ने उसे पकड़कर बाड़मेर जिला जेल में बंद कर दिया। बूढ़े मात-पिता अपने दोनों बेटों की जेल में बंद होने से दुखी रहने लगे। वह रोजाना इधर से उधर अधिकारियों और नेताओं के चक्कर काट रहे हैं।

इसे भी पढ़ें-ये कैसा बाप? रेप नहीं कर पाया तो 6 साल की बच्ची के प्राइवेट पार्ट में लकड़ी डाल दी, घर में लहूलुहान मिली बच्ची

पीड़ित परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़
दो बेटों के जेल में बंद होने से परिवार पहले ही मुश्किल में था कि अब गांव वालों ने उनको गांव छोड़ने पर मजबूर कर दिया। दबंगों ने पंचायत लगाई और पीड़ित परिवार को गांव से बाहर निकालने का फैसाल सुना दिया। वह मिन्नतें करते रहे, लेकिन किसी ने एक नहीं सुनी। साथ यहां तक कह दिया कि अगर उन्होंने गांव नहीं छोड़ा तो घर समेत पूरा सामान जला देंगे। ऐसे में मजबूर होकर परिवार पड़ोस के दूसरे गांव में रहने को चला गया है।

इसे भी पढ़ें-शादी के बाद पता चला पति समलैंगिक, दोस्त के साथ देखा न्यूड फोटो तो उड़ गए होश... फिर करने लगा सारी हदें पार

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios