Asianet News HindiAsianet News Hindi

संडे बना जिंदगी का आखिरी दिन: 3 भाई और एक दोस्त की दर्दनाक मौत, सुबह घर से निकले..2 घंटे बाद आईं लाशें

राजस्थान से दिल दहला देने वाले एक्सीडेंट की खबर सामने आई है। जहां ट्रेलर और कार की आमने-सामने टक्कर हो गई। इस हादसे में चार लड़कों की मौके पर ही मौत हो गई। 

rajasthan news three brothers and one friend death on together  in hanumangarh
Author
Hanumangarh, First Published Sep 19, 2021, 12:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हनुमानगढ़. राजस्थान से दिल दहला देने वाले एक्सीडेंट की खबर सामने आई है। जहां ट्रेलर और कार की आमने-सामने टक्कर हो गई। इस हादसे में चार लड़कों की मौके पर ही मौत हो गई। बता दें कि मृतक तीन तो रिश्ते में भाई थे, वहीं एक उनका दोस्त था। चारों संडे के दिन कार चलाना सीख रहे थे।

कार के उड़े परखच्चे..बुरी तरह अंदर फंसे थे शव
दरअसल, यह भीषण एक्सीडेंट हनुमानगढ़-जयपुर हाईवे पर रविवार सुबह रावतसर कस्बे के पास हुआ। जहां सुबह करीब साढ़े पांच बजे कार सीखने के लिए निकले नीरज, हेमंत रुद्राक्ष और रजत ट्रेलर से टक्कर के बाद मौत हो गई। हादसे की जानकारी लगते ही पुलिस ने चारों के शव कार से निकाले। कार की हालत इतनी बुरी तरह थी उसके परखच्चे उड़ चुके थे। शवों को बाहर निकालने में करीब एक घंटे की मशक्कत करनी पड़ी।

संडे का दिन बना जिंदगी का अखिरी दिन
बता दें कि रजत नीरज व हेमंत को ड्राइविंग सिखाने के लिए कार से निकला था। पड़ोस में रहने वाले दोस्त रुद्राक्ष को भी साथ ले लिया।
काफी देर तक रजत ने उनको कार चलाना सिखाया। इसके बाद वह घर लौटकर आने लगे, तभी सामने से आ रहे ट्रेलर ने कार को टक्कर मार दी। हादसे के बाद ड्राइवर मौके पर ट्रेलर छोड़कर फरार हो गया। बताया जाता है कि हादसे के बाद चारों काफी देर तक तड़पते रहे, लेकिन कोई बचाने वाला भी नहीं था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios