Asianet News HindiAsianet News Hindi

एक आदमी को पकड़कर थाने पहुंची तीन महिलाएं, बोलीं-ये पति मेरा है

यह कहानी एक ऐसे  शख्स की है, जिसे एक बार नहीं, तीन बार प्यार हुआ। प्यार तक तो ठीक, लेकिन उसने तीनों से झूठ बोलके शादी भी कर ली। अब जब उसकी तीनों पत्नियों को सच्चाई का पता चला, तो उन्होंने शख्स की खटिया खड़ी कर रखी है। पढ़िए यह अजब प्रेम की गजब कहानी..

Shocking love story of a husband and three wives in Bhiwadi, Rajasthan
Author
Bhilwara, First Published Aug 23, 2019, 1:00 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भिवाड़ी.  40 साल का हरिओम ड्राइवर है। गुरुवार को तीन महिलाएं उसे पकड़कर फूलबाग थाने पहुंचीं। पुलिस के पूछने पर तीनों महिलाओं ने उसे अपना-अपना पति बताया। यह सुनकर पुलिस हैरान रह गई। तीनों ही महिलाएं उस पर अपना हक जता रही थीं। पुलिस ने जब पूरा मामला समझा, तो सबसे लिखित में शिकायत करने को कहा। लेकिन उनमें से कोई भी इसके लिए तैयार नहीं हुई। ऐसे मामले में पुलिस भी असहाय महसूस करने लगी। काफी देर तक तीनों महिलाएं वहां विवाद करती रहीं, फिर पुलिस की समझाइश पर वहां से चली गईं।

ऐसे शुरू हुआ प्रेम का सिलसिला...
बंटी देवी भिवाड़ी में किराए के मकान में रहती हैं। बंटी देवी ने बताया कि उनके पति की मौत हो चुकी है। करीब तीन साल पहले हरिओम से उसकी मुलाकात हुई। कुछ मुलाकातों के बाद दोनों एक-दूसरे से प्यार करने लगे। इसके बाद परिजनों की मौजूदगी में दोनों ने शादी कर ली। बंटी देवी की पहली शादी से 13 और 14 साल की दो बेटियां हैं। हरिओम ने दोनों बच्चियों को अपना लिया था। बंटी देवी ने बताया कि हरिओम ने बताया था कि उसका पहली पत्नी से तलाक हो चुका है। उसकी एक बेटी की शादी हो चुकी है। उसने अपना छोटा बेटा बड़े भाई को गोद दे दिया, जबकि बड़ा बेटा गुरुग्राम में रहता है। बंटी देवी ने बताया कि कुछ समय से हरिओम गायब रहने लगा। वो गुरुग्राम जाता था। मालूम चला कि हरिओम की गुरुग्राम में भी एक पत्नी है।

दोनों पत्नियों ने भी खोल दी पोल..
बंटी देवी के बुलावे पर गुरुग्राम में रहने वाली हरिओम की दूसरी पत्नी मंजू भी थाने पहुंची थी। मंजू ने बताया कि वो हरिओम और उसकी पहली पत्नी सुमन को पिछले 15 सालों से जानती है। दोनों परिवारों में घनिष्ठता रही है। हरिओम अकसर उसकी मदद करता रहा है। हरओम और सुमन अलग हो चुके हैं। दोनों का बड़ा बेटा मंजू के पास ही रहता है। दोनों महिलाओं की कहानी खत्म भी नहीं हुई थी कि हरिओम की पहली पत्नी सुमन भी पुलिस थाने जा पहुंची। सुमन ने बताया कि अभी उसका तलाक नहीं हुआ है। इसलिए वो उसे तभी छोड़ेगी, जब वो उसे घर चलाने खर्चा-पानी दे। हरिओम की 21 साल पहले सुमन से शादी हुई है। हालांकि 7 साल पहले दोनों अलग हो गए। 

दो पत्नियां एक हुईं
विवाद के दौरान मंजू और सुमन दोनों में सुलह हो गई। लेकिन वे बंटी देवी से अपना पति बांटने को राजी नहीं हुईं। थाना प्रभारी बालाराम चौधरी ने बताया कि तीनों महिलाओं को समझाया गया है कि वे चाहें तो हरिओम के खिलाफ लिखित में शिकायत दर्ज करा सकती हैं। उधर, हरिओम की बोलती बंद रही। उसे अंदाजा नहीं था कि वो तीन शादियां करके फंस जाएगा।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios