Asianet News HindiAsianet News Hindi

मामी ने 16 महीने के बच्चे के साथ की शर्मनाक हरकत: खंजर से काटा प्राइवेट पार्ट, करना चाहती थी ऐसा काम

राजस्थान के सीकर जिले के खाटूश्यामजी थाने में एक दर्दनाक हादसा सामने आया है। यहां एक मामी ने आपसी रंजिश के कारण अपने भांजे का प्राइवेट पार्ट काट दिया। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। 

Sikar news Mami cut her own nephew private part pwt
Author
First Published Sep 4, 2022, 8:41 AM IST

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में एक दर्दनाक मामला सामने आया है। यहां आपसी रंजिश के चलते मामी ने अपने भांजे की जान लेने की कोशिश की। मामी ने 16 महीने के बच्चे को जान से मारने के इरादे से बच्चे के प्राइवेट पार्ट पर खंजर से इस कदर हमला किया कि पार्ट दो हिस्सों में कट कर गिर गया। घायल बच्चे के शरीर से इतना खून निकला कि घर का आंगन पूरी तरह से खून से सन गया। फिलहाल बच्चे को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

मां ने ससुर को दी जानकारी
बच्चे की मां ने इस बात की खबर अपने ससुर को दी। जिसके बाद ससुर ने बच्चे को हॉस्पिटल में भर्ती करवाया है। वहीं अब बच्चे की मम्मी और मामा ने बच्चे को जान से मारने की धमकी दी है। फिलहाल खाटूश्यामजी पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है।

मायके गई थी बहू
खाटूश्यामजी पुलिस ने बताया कि जयपुर निवासी जगदीश जाट ने बताया कि उसके बेटे महेश की शादी करीब 4 साल पहले खाटूश्यामजी इलाके की रहने वाली लड़की अनीता से हुई थी। पति पत्नी के एक 16 महीने का बेटा भी है। बेटे को लेकर उसकी मां अनीता करीब 1 महीने से भी ज्यादा समय पहले अपने पीहर गई थी। 31 अगस्त को अनीता ने फोन कर अपने ससुर को बताया कि उसकी भाभी सरोज ने बच्चे के प्राइवेट पार्ट पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। जिससे कि उसके शरीर से काफी खून बहने लगा। ऐसे में बच्चे के दादा ने बच्चे और उसकी मां को अपने गांव बुलाया। जहां से बच्चे को इलाज के लिए जयपुर में भर्ती करवाया गया है। घटना के बाद जब बच्चे के दादा जगदीश ने फोन पर बच्चे के मामा मामी से बात की तो उन्होंने कहा कि इस बार तो भले ही बच गया हो लेकिन अगली बार तो बच्चे को जान से ही मार देंगे। बता दें कि दोनों पक्षों के बीच संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा है। 

पहले भी आए हैं कई मामले
राजस्थान में यह पहला मामला नहीं है जब इस कदर मासूमों से बेरहमी का मामला सामने आया है। इससे पहले भी उदयपुर और बांसवाड़ा समेत आदिवासी इलाकों से ऐसे कई मामले सामने आए हैं। जहां रिश्तेदारों ने ही अपने बच्चों के साथ बेरहमी से मारपीट की हो। वहीं घटना के बाद बच्चे को करीब 2 घंटे बाद हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया। ऐसे में उसके शरीर का 30% खून निकल चुका था। और वह दर्द के मारे पूरे समय कहराता रहा।

इसे भी पढ़ें- सहेली ने बना दिया कॉल गर्ल, 15 साल की मासूम ने बताया- होटल के उस कमरे का घिनौना सच 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios