Asianet News HindiAsianet News Hindi

तेजाजी मूर्ति के अनावरण पर पहुंचे नागौर सांसद बेनीवाल, केंद्र व राज्य सरकार को लेकर कही बड़ी बात

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के सुप्रीमों व नागौर सांसद हनुमान सोमवार के दिन जिले के सांगलिया में वीर तेजाजी की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में पहुंचे। वहां उन्होंने राज्य व केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। इसके साथ ही बोले की परिवर्तन शेखावटी से ही आ सकता है।

sikar news nagaur MP and RLP party head hanuman beniwal visit sangalia to veer tejaji statue pran pratishtha target central and state government asc
Author
First Published Sep 5, 2022, 8:40 PM IST

सीकर. राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी सुप्रीमो व नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने केंद्र व राज्य सरकार पर सियासी निशाना साधते हुए  शेखावाटी के किसानों व नौजवानों सेे सत्ता परिवर्तन की कमान संभालने का आह्वान किया है। जिले के सांगलिया में वीर तेजाजी की मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा समारोह में उन्होंने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार किसान व नौजवान विरोधी है। ऐसे में किसानों व नौजवानों को एकजुट होकर 2023 में सत्ता परिवर्तन का बीड़ा उठाना चाहिए। जिसकी शुरुआत शेखावाटी से ही करनी होगी। बोले, शेखावाटी यदि परिवर्तन के मूड में आ जाए तो राजस्थान में परिवर्तन हो जाएगा। 

केंद्र व राज्य सरकार पर साधा निशाना
बेनीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार ने तीन कृषि कानूनों व अग्निपथ योजना से किसानों व नौजवानों के साथ विश्वासघात किया। जिसके खिलाफ पहले मंत्री पद को छोड़कर उन्होंने 70 दिन तक जयपुर- दिल्ली हाईवे पर किसानों व युवाओं के लिए लड़ाई लड़ी। बाद में अग्निपथ के खिलाफ जोधपुर में संघर्ष किया। इसी तरह राजस्थान में किसानों का कर्जा व बेरोजगारी के अलावा बिगड़ती कानून व्यवस्था बड़ा मुद्दा बन गई है। हालात ये हैं कि सीकर में वकील तक को आत्मदाह करना पड़ा। कहा कि राज्य में किसानों की झूठी वीसीआर व मुकदमें दर्ज किए जा रहे हैं। न्याय की मांग करने पर अधिकारी अच्छा बर्ताव नहीं करते। 

गौ माता खत्म तो किस बात की  राजनीति
बेनीवाल ने पशुओं की लंपी बीमारी के बहाने भी भाजपा को लपेटे में लिया। कहा कि जो लोग गौ माता के नाम पर वोट मांग कर राजनीति करते हैं, उन्हें लंपी बीमारी पर ध्यान देना चाहिए। कहा कि जब गौमाता ही खत्म हो जाएगी तो फिर वे किस बात की राजनीति करेंगे।

कौम की नहीं न्याय की लड़ाई
बेनीवाल ने इस दौरान खुद को कौम की बजाय अन्याय के खिलाफ लड़ाई लडऩे वाला बताया। उन्होंने कहा कि कुछ लोग कहते हैं कि वे एक कौम का ही साथ देते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है। हकीकत में वे किसी भी कौम के साथ हुए अन्याय के खिलाफ लड़ाई लड़ते हैं।

यह भी पढ़े- कौन हैं लालू को सजा सुनाने वाले जज की दु्ल्हन, जिन्होंने रिटायर्ड होने से पहले की शादी, दिलचस्प है लव स्टोरी

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios