Asianet News HindiAsianet News Hindi

पिता के गिफ्ट से बेटी को मिला जिंदगीभर का दर्द, एक साथ बुझ गए 2 घरों के चिराग

राजस्थान के सीकर जिले में मंगलवार के दिन एक दर्दनाक हादसा हुआ है। जिसमें तीन लोगों की जान चली गई है। जिसमें दो लोग अपने घर की इकलौती संतान थे। घटना के बाद से तीनों घरों में मातम पसरा हुआ है। वहीं हादसे के बाद बाईपास में जाम लग गया था, जिसे मौके पर पहुंची पुलिस ने खुलवाया।

sikar news three friends died in road accident people jammed road police restored traffic asc
Author
First Published Sep 14, 2022, 2:02 PM IST

सीकर. पिता से मिला उपहार एक मां के लिए जिंदगीभर के गम व दर्द का सबब बन गया। उस उपहार ने उस मां सहित तीन मांओं के बेटे छीन लिए। दो घरों के तो चिराग ही बुझ गए। दरअसल हरियाणा का जिंद निवासी  25 वर्षीय नितिन सीकर में प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा था। जिसकी मां को हालही में उसके नाना ने उपहार में कार भेंट की थी।  जिसे इस बार छुट्टी में घर जाने पर मृतक नितिन अपने साथ सीकर ले आया था। उसी कार में वह अपने दो दोस्तों झुंझुनूं के काकोडा निवासी 24 वर्षीय प्रतीक और चूरू के सिद्धमुख कस्बे के तांबाखेड़ी निवासी 25 वर्षीय रविन्द्र के साथ घूमने निकला था। इसी बीच झुंझुनूं बाइपास पर वह कार उसके नियंत्रण से बाहर हो गई और डिवाइडर पार करते हुए सामने से आ रहे ट्रक में घुस गई। जिसमें तीनों दोस्तों की मौत हो गई। 

दो भाइयों में छोटा था नितिन, प्रतीक व रविंद्र इकलौते
मामले की जांच कर रहे उद्योग नगर थानाधिकारी श्रीनिवास जांगिड़ ने बताया कि नितिन दो भाइयों में छोटा था। जबकि प्रतीक व रविंद्र अपने  माता- पिता की इकलौती संतान थे। ऐसे में हादसे में दो घरों के चिराग ही बुझ गए। इस घटना के बाद से तीनों घरों में मातम पसर गया है।

डिफेंस की तैयारी कर रहे थे तीनों, एक दोस्त की बची जान
पुलिस के अनुसार तीनों मृतक दोस्त सीकर में रहकर डिफेंस की तैयारी कर थे। इसके लिए उन्होंने एक कोचिंग ज्वॉइन कर रखी थी। जहां तीनों की मुलाकात हुई थी। कार  में घूमने जाते समय उन्होंने अपने एक अन्य दोस्त को भी जाने के लिए तैयार रहने को कहा था। पर उसके पास पहुंचने से पहले ही वह हादसे का शिकार हो गए। 

दोस्त के पिता ने लगाया लापरवाही से कार चलाने का आरोप
मामले में हादसे का शिकार हुए प्रतीक के पिता मानसिंह ने उद्योग नगर थाने में रिपोर्ट दी है। जिसमें बताया कि उसका बेटा प्रतीक सीकर में रहकर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा था। मंगलवार को दोस्तों के साथ जाते समय कार चालक ने लापरवाही से कार चलाई, जिससे वह डिवाइडर कूदकर ट्रक से टकरा गई। जिसके चलते उसके बेटे की मौत हेा गई। ऐसे में मामले में कानूनी कार्रवाई की जाए।

धमाका सुन जुटी भीड़, रास्ते पर लगा जाम
प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार ट्रक व कार की भिड़त का तेज धमाका हुआ। जिसे सुन नजदीकी लोग दौड़कर मौके पर पहुंचे। हताहतों को बाहर निकालने की कोशिश के साथ ही पुलिस को घटना की सूचना दी गई। लोगों की भीड़ व दुर्घटनाग्रस्त वाहनों से रास्ते पर जाम लग गया। बाद में पुलिस ने  रास्ता खुलवाया। घटना में कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई।

यह भी पढ़े- हिंदी दिवस विशेष: गायब हो रही भाषा इसलिए मनाना पड़ रहा यह दिन,सरकारी जगहों पर अभी भी उर्दू फारसी शब्दों का चलन

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios