Asianet News HindiAsianet News Hindi

शादी से पहले पार्टनर्स को जान लेनी चाहिए एक-दूसरे के बारे में जरूरी बातें, इससे कम होती है परेशानी

पहले शादियां घरवालों की मर्जी से तय हुआ करती थीं। लेकिन अब शादी के पहले लड़के और लड़की की रजामंदी को भी जरूरी माना जा रहा है। अक्सर अरेंज्ड मैरिज में भी लड़के-लड़की पहले एक-दूसरे से मिल कर बातें करते हैं। 

Before marriage, partners should know important things about each other, later trouble becomes less KPI
Author
New Delhi, First Published Dec 14, 2019, 3:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रिलेशनशिप डेस्क। पहले शादियां घरवालों की मर्जी से तय हुआ करती थीं। लेकिन अब शादी के पहले लड़के और लड़की की रजामंदी को भी जरूरी माना जा रहा है। अक्सर अरेंज्ड मैरिज में भी लड़के-लड़की पहले एक-दूसरे से मिल कर बातें करते हैं। शादी के पहले अगर पार्टनर्स आपस में बातचीत करते हैं, एक-दूसरे से मिलते हैं तो उनके लिए अच्छा होता है। वैसे, एक-दो मुलाकातों में किसी को बेहतर तरीके से नहीं समझा जा सकता, लेकिन फिर भी परिचय तो हो ही जाता है। जानें कौन-सी बातें विवाह के पहले पार्टनर्स के लिए सही साबित होती हैं। 

1. आत्मीयता
अगर विवाह से पहले ही लड़के-लड़की के बीच संबंध आत्मीयतापूर्ण रहेंगे तो आगे भी उनके बीच संबंध ठीक रहने की संभावना ज्यादा होती है। लेकिन जब पहले से लड़का और लड़की एक-दूसरे को बिल्कुल नहीं जानते तो उनमें आत्मीयतापूर्ण संबंध विकसित होने में देर लगती है।

2. सहमति
शादी के लिए लड़का और लड़की का परस्पर सहमत होना बहुत ही जरूरी है। कई बार शादियां परिवार वालों के दबाव से भी हो जाती है। कुछ मामलों में लड़कियां नहीं चाहते हुए भी परिवार द्वारा तय किए गए संबंध को स्वीकार करने के लिए बाध्य होती हैं। ऐसे मामलों में अक्सर आगे चल कर वैवाहिक संबंध तनावपूर्ण होने की संभावना रहती है, यद्यपि यह कोई जरूरी नहीं है।

3. परस्पर आदर
वैवाहिक संबंध में यह जरूरी है कि दोनों पार्टनर एक-दूसरे के प्रति सम्मान की भावना रखें। इससे उनके बीच संबंध समानता के धरातल पर बनते हैं। कई बार लड़के लड़कियों को हीन दृष्टि से देखते हैं। ऐसे लोग शादी करने के बाद अपनी पत्नी का सम्मान नहीं करते और उसे कमतर मान कर चलते हैं। ऐसा दृष्टिकोण रखने से वैवाहिक संबंधों में आगे चल कर परेशानी आने लगती है।

4. सहानुभूतिपूर्ण व्यवहार
किसी भी संबंध में सहानुभूतिपूर्ण व्यवहार बहुत ज्यादा मायने रखता है। वैवाहिक संबंधों में तो इसका महत्व और भी ज्यादा है। अगर विवाह के पहले ही पार्टनर्स एक-दूसरे को जानेंगे और उनके स्वभाव से कमोबेश परिचित हो जाएंगे तो इस बात की संभावना ज्यादा रहती है कि वे एक-दूसरे के प्रति सहानुभूतिपूर्ण व्यवहार करें।  

5. एक-दूसरे से करें बातचीत
शादी के पहले पार्टनर्स एक-दूसरे को अच्छी तरह जान सकें, इसके लिए जरूरी है कि वे आपस में मिल कर या फोन पर ज्यादा से ज्यादा बात करें। अगर वे ऐसा करते हैं तो उनके परिवार वालों को कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए। अब समय बदल गया है। पार्टनर्स के बीच किसी तरह की गलतफहमी नहीं रहे, इसके लिए उनका एक-दूसरे को भलीभांति जानना बहुत जरूरी है। 

 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios