Asianet News HindiAsianet News Hindi

ऐसे करें धोखेबाज पार्टनर की पहचान, रहें सावधान

आजकल रिलेशनशिप बनाते हुए लोगों को काफी सावधान रहना पड़ता है। कई पार्टनर स्वार्थी और धोखेबाज होते हैं। अगर वक्त रहते उनकी पहचान नहीं कर ली जाए तो वे गंभीर नुकसान पहुंचा सकते हैं। 

How to identify a fraudulent partner, be careful
Author
New Delhi, First Published Dec 3, 2019, 4:02 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रिलेशनशिप डेस्क। रिलेशनशिप में आजकल धोखा मिलना आम बात हो गई है। ऐसे लोगों की कमी नहीं जो स्वार्थी होते हैं और किसी न किसी मतलब से ही किसी से संबंध बनाते हैं। जैसे ही उनका मतलब पूरा होता है, वे धोखा देने में जरा भी देर नहीं करते। ऐसे लोग किसी को बहुत नुकसान पहुंचा सकते हैं। वे किसी की इमेज भी खराब कर देते हैं। कई बार तो ये इतने खतरनाक साबित होते हैं कि इसकी कल्पना तक नहीं की जा सकती। रिलेशनशिप बनाने के पहले ऐसे लोगों की पहचान करना जरूरी होता है। जानें, कैसे लोगों से रिश्ता रखने से बचना चाहिए।

1. ईर्ष्या रखने वाले
कुछ लोग ऐसे होते हैं जो पार्टनर की किसी अचीवमेंट पर बहुत खुश हो जाते हैं। उन्हें लगता है कि यह उनकी खुद की उपलब्धि है। वहीं, कुछ लोग ईर्ष्या रखने वाले स्वभाव के होते हैं। वे खुद तो जीवन में आगे बढ़ना चाहते हैं, लेकिन पार्टनर को आगे बढ़ते नहीं देखना चाहते हैं। ऐसे लोग संबंध बनाने लायक नहीं होते। इनसे हमेशा दूर रहना चाहिए।

2. नकारात्मक सोच
कुछ लोगों की सोच पर हमेशा नकारात्मकता हावी रहती है। ये न खुद आगे बढ़ना चाहते हैं, न दूसरों को आगे बढ़ने में मददगार होते हैं। ऐसे लोग किसी भी बात के नेगेटिव पहलू को ही देखते हैं। इनके साथ से खुद की पर्सनैलिटी में भी नकारात्मकता आने लगती है। इसलिए इनसे संबंध नहीं बनाना चाहिए।

3. झूठ बोलना
कुछ लोगों में झूठ बोलने की आदत होती है। वे कभी भी सच नहीं बोलते। ऐसे लोग दूसरों को गुमराह करते हैं। अगर ये किसी काम को करने का वादा करते हैं तो कभी उसे पूरा नहीं करते। पूछने पर झूठ बोल देते हैं। 

4. राज की बात दूसरों को बताना
जब आप किसी के साथ रिलेशनशिप में होते हैं तो उससे अपनी सारी बातें शेयर करते हैं, चाहे वो भली हों या बुरी। कुछ लोग पार्टनर की बातों को अपने तक सीमित नहीं रखते। वे राज की बातें भी दोस्तों को बता देते हैं। इससे कभी-कभी बहुत शर्मनाक स्थिति बन जाती है। इसलिए जब तक कोई पूरी तरह अपने को भरोसमंद साबित न कर दे, उससे रिलेशनशिप रखना खतरे से खाली नहीं होता।

5. बुरे वक्त में साथ नहीं देना
सच्चे पार्टनर की पहचान बुरे वक्त में ही होती है। जो वास्तव में आपसे नजदीकी महसूस करता है और भावनात्मक रूप से आपसे जुड़ा होता है, वह आम दिनों में भले ही आपसे दूर रहे, लेकिन कठिनाई के वक्त में जरूर आपके पास होगा और हर तरह से आपकी मदद के लिए तैयार होगा। लेकिन जो बुरा वक्त आते ही किसी बहाने से आपसे दूर हो जाए, उससे रिश्ता रखना कभी ठीक नहीं होता। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios