रिलेशनशिप डेस्क। कई बार ब्रेकअप के बाद भी पार्टनर दोस्ती बनाए रखना चाहते हैं। यह परिस्थितियों पर निर्भर करता है कि ऐसा संभव है या नहीं। ब्रेकअप के बाद पार्टनर से दोस्ती रखें या नहीं, इसे लेकर ठीक से विचार कर लेना चाहिए। यह सोचना जरूरी होता है कि ब्रेकअप आखिर क्यों हुआ और इसके बाद दोस्ती का मतलब क्या होगा। रिलेशनशिप दोस्ती से कहीं ज्यादा गहरा संबंध है। लेकिन ऐसे लोगों की कमी नहीं जो किसी से ब्रेकअप करते हुए यह कहते हैं कि हम अच्छे दोस्त रहेंगे। सवाल उठता है कि क्या यह संभव है। जो व्यक्ति रिलेशनशिप में साथ नहीं रह सका, वह एक अच्छा दोस्त कैसे साबित हो सकता है। कई लड़कियां और लड़के भी भावुकता में या ब्रेकअप के दर्द से उबरने के लिए दोस्त बने रहना स्वीकार कर लेते हैं, लेकिन ऐसा करते हुए कुछ बातों का जरूर ख्याल रखना चाहिए।

1. ब्रेकअप की मुख्य वजह
दोस्ती के प्रस्ताव पर विचार करते हुए आपको ब्रेकअप की मुख्य वजह के बारे में सोचना होगा। कोई ब्रेकअप ऐसे ही नहीं हो जाता। जब रिश्ते में तनाव बहुत बढ़ जाता है, तभी ऐसा होता है। कई बार पार्टनर मानसिक रूप से आहत करने के साथ शारीरिक हिंसा पर भी उतारू हो जाते हैं। अगर आपको लगता है कि पार्टनर का हिंसक रवैया ही ब्रेकअप की मुख्य वजह था तो दोस्ती रख पाना मुश्किल हो सकता है।

2. धोखा और झूठ
अगर आपका पार्टनर आपसे लगातार झूठ बोलता रहा और संबंधों में उससे आपको धोखा मिला, जिसकी वजह से ब्रेकअप हुआ तो दोस्ती का रिश्ता रखने पर क्या धोखे का सामना नहीं करना पड़ेगा? इस पर बिना अच्छी तरह विचार किए आपको दोस्ती के लिए हां नहीं करना चाहिए। 

3. दर्द रह सकता है बना
ब्रेकअप चाहे जिस वजह से हुआ हो, इससे दिल टूट जाता है। ब्रेकअप के दर्द से उबर पाने में समय लग जाता है। अगर आप अलग हो चुके पार्टनर से दोस्ती का रिश्ता रखते हैं तो पुरानी बातें अक्सर आपको याद आएंगी और हो सकता है कि आपका दर्द कम होने की जगह बढ़ ना जाए। 

4. खुद पर कम होता है भरोसा
कई बार जब हम जुदा हो चुके पार्टनर से दोस्ती का रिश्ता रखते हैं तो इससे यह जाहिर होता है कि हमें हर हाल में चाहे जिस तरह संभव हो, किसी का साथ चाहिए। यह हमारी भावनात्मक कमजोरी को जाहिर करता है। हो सकता है, दोस्त के रूप में आपको अपने पूर्व पार्टनर से फिर कहीं धोखा ना मिले। इसलिए इस संबंध में सोच-विचार कर ही कोई निर्णय लें।

5. बढ़ता है दुख
कई बार ब्रेकअप के बाद भी लोगों के मन में अपने पार्टनर के लिए प्यार बना रहता है। उससे जुड़ी यादें बनी रहती हैं। उसके साथ बिताए अंतरंग पल रोमांच पैदा करते हैं और मन में टीस पैदा होती है। ब्रेकअप के बाद इन बातों से निकलना जरूरी होता है, ताकि आप किसी नए रिश्ते की शुरुआत कर सकें। अगर आप अपने पूर्व पार्टनर से दोस्ती रखते हैं तो पुरानी यादें आपका पीछा नहीं छोड़ेंगी और आपका दुख कम होने की जगह बढ़ेगा।