Asianet News HindiAsianet News Hindi

Study : रिलेशनशिप में रहने वाली 50 पर्सेंट महिलाएं रखती हैं 'बैकअप' पार्टनर

अभी हाल ही में हुई एक स्टडी में महिलाओं के रिलेशनशिप को लेकर चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। इस रिसर्च स्डटी में पता चला है कि जो महिलाएं किसी के साथ रिलेशनशिप में होती हैं, उनमें करीब 50 फीसदी 'बैकअप' यानी कोई दूसरा पार्टनर भी रखती हैं।

Study: 50% of women in relationships have'backup' partners KPI
Author
England, First Published Dec 21, 2019, 1:19 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रिलेशनशिप डेस्क। अभी हाल ही में हुई एक स्टडी में महिलाओं के रिलेशनशिप को लेकर चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। इस रिसर्च स्डटी में पता चला है कि जो महिलाएं किसी के साथ रिलेशनशिप में होती हैं, उनमें करीब 50 फीसदी 'बैकअप' यानी कोई दूसरा पार्टनर भी रखती हैं। दरअसल, हर आदमी किसी काम का एक बैकअप प्लान भी रखता है। कई डाक्युमेंट्स के बैकअप रखे जाते हैं। लेकिन कोई रिलेशनशिप में बैकअप पार्टनर रखे तो यह बात अजीब ही लगती है। पर यह सच है। इंग्लैंड में एक मार्केटिंग रिसर्च कंपनी OnePoll ने उन महिलाओं को लेकर एक सर्वे किया, जो किसी न किसी के साथ रिलेशनशिप में हैं। इससे पता चला कि 50 प्रतिशत से ज्यादा महिलाओं ने कहा उनके पास बैकअप पार्टनर भी है। बैकअप पार्टनर का ऑप्शन उन्होंने इसलिए रखा है कि कहीं उनका अभी का रिश्ता बढ़िया न चले और ब्रेकअप की नौबत आ जाए तो बैकअप पार्टनर उनके काम आएगा। 

1. बैकअप पार्टनर ज्यादातर होते हैं पुराने दोस्त
इस सर्वे में इंग्लैंड की 1000 महिलाओं ने भागीदारी की। इनमें मैरिड और अनमैरिड महिलाएं शामिल थीं, जो किसी न किसी के साथ रिलेशनशिप में थीं। इन महिलाओं में से करीब 50 प्रतिशत ने यह स्वीकार किया कि उनका बैकअप पार्टनर भी है। अगर अभी जो पार्टनर है, उसके साथ उनकी नहीं बनी और अलग होने की नौबत आ गई तो बैकअप पार्टनर की वजह से उन्हें परेशानी नहीं होगी। सर्वे से पता चला कि महिलाओं ने जिन्हें अपना बैकअप पार्टनर बना रखा था, उनमें उनके पुराने दोस्त और परिचित थे, जिनके साथ पहले उनके रोमांटिक संबंध रह चुके थे। 

2. एक्स बॉयफ्रेंड भी हो सकता है बैकअप पार्टनर
सर्वे से यह भी पता चला कि महिलाओं के एक्स बॉयफ्रेंड और ऑफिस में साथ काम करने वाले भी उनके बैकअप पार्टनर हो सकते हैं। सर्वे में शामिल होने वाली महिलाओं ने कहा कि उनका बैकअप पार्टनर कोई हो सकता है, चाहे वह एक्स हसबैंड हो, स्कूल फ्रेंड हो या जिम में मिला कोई शख्स जिससे जान-पहचान हो गई हो। सबसे खास बात यह है कि उस शख्स को महिला का पुराना परिचित होना चाहिए और साथ ही इस बात के लिए भी तैयार रहना चाहिए कि जब महिला को उसकी जरूरत हो तो वह पार्टनर बन कर उसका साथ दे। 

3. महिला के लिए सब कुछ छोड़ दे
इस सर्वे में शामिल करीब 10 प्रतिशत महिलाओं ने कहा कि पार्टनर बनाने के उनके प्लान बी में ऐसे लोग शामिल हो सकते हैं, जिन्होंने कभी न कभी उनके प्रति प्यार की भावना जाहिर की थी। वहीं, 5 प्रतिशत महिलाओं ने कहा कि वे उसे बैकअप पार्टनर के रूप में देखना चाहेंगी जो उनके लिए जब जरूरत हो तो सब कुछ छोड़ कर साथ आ सके।

4. क्या प्रेजेंट पार्टनर को पता है यह
सबसे आश्चर्य की बात तो यह रही कि सर्वे के दौरान पता चला कि औरतों के प्लान बी यानी बैकअप पार्टनर प्लान के बारे में उनके प्रेजेंट पार्टनर को तो कुछ भी पता नहीं, लेकिन इतना जरूर पता है कि उनकी गर्लफ्रेंड या वाइफ की लाइफ में किसी 'थर्ड पर्सन' के लिए जगह है। सर्वे के दौरान 4 में से 1 महिला ने कहा कि उसके वर्तमान पार्टनर को उस शख्स के बारे में पता है जो उसका प्लान बी पार्टनर हो सकता है, वहीं 20 प्रतिशत महिलाओं ने कहा कि उनके पार्टनर या हसबैंड उस शख्स के दोस्त हैं, जिसे उसने बैकअप पार्टनर के रूप में चुन रखा है।

5. चिंता की है यह बात
रिसर्च कंपनी के स्पोक्सपर्सन ने इस सर्वे के परिणामों को चिंता की बात कहा। स्पोक्सपर्सन का कहना था कि यह रिलेशनशिप में आ रही गिरावट और मूल्यहीनता को दिखाता है। इससे साफ पता चलता है कि रिलेशनशिप में समर्पण का मूल्य खत्म होता जा रहा है। सब कुछ सुविधा और मौज-मजे तक सीमित होता जा रहा है। स्पोक्सपर्सन का कहना था कि इसमें सोशल मीडिया की बड़ी भूमिका है। इसके जरिए औरतें बहुत लोगों के संपर्क में आती हैं, जिनमें अधिकतर से उन्हें धोखा मिलता है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios