7 साल की मासूम ने बताया बाबा ने अपने घर बुलाया और किया रेप, सुनकर उड़े मां के होश

| Nov 27 2022, 08:59 AM IST

7 साल की मासूम ने बताया बाबा ने अपने घर बुलाया और किया रेप, सुनकर उड़े मां के होश

सार

हमारे देश में मासूम बच्चियों के साथ यौन शोषण के मामले आए दिन बढ़ते जा रहे हैं। कुछ ऐसा ही मामला उत्तर प्रदेश के कौशांबी से सामने आया है, जहां पर रिश्ते में बाबा लगने वाले आदमी ने ही 7 साल की बच्ची के साथ हैवानियत की सारी हदें पार कर दी।

रिलेशनशिप डेस्क : कहते हैं बच्चों का दिल बहुत मासूम होता है। वह कभी झूठ नहीं बोलते हैं। बचपन में उनके साथ जो होता है, उसका भविष्य में उनके ऊपर बहुत बुरा असर पड़ता है और इसलिए हर पेरेंट्स चाहते हैं कि उनके बच्चे एक अच्छे वातावरण में पले बढ़े। लेकिन हाल ही में उत्तर प्रदेश के कौशांबी से एक मामला सामने आया है, जहां रिश्ते में बच्ची के बाबा यानी कि चचेरे दादाजी लगने वाले शख्स ने ही 7 साल की बच्ची के साथ हैवानियत की सारी हदें पार कर दी। इस बात का खुलासा तब हुआ जब 7 वर्षीय बच्ची ने अपनी मां को अपनी आपबीती सुनाई। जिसे सुनकर मां के पैरों तले जमीन खिसक गई।

क्या है पूरा मामला
यह घटना है उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिले के सैनी कोतवाली क्षेत्र के 1 गांव की। जहां आस पड़ोस में एक ही परिवार के कई लोग रहते थे। शनिवार की सुबह पड़ोस में रहने वाले बाबा 7 साल की बेटी को खिलाने के बहाने अपने घर ले गए और वहां उसके साथ दरिंदगी की। जब थोड़ी देर बाद मां उसे बुलाने के लिए पहुंची, तो उसे कुछ गड़बड़ लगी। इसके बाद बेटी ने रोते-रोते कहा- 'मम्मी बाबा ने मेरे साथ गलत किया।' इतना कहते ही वह बेहोश हो गई। मां को शक हुआ कि इस आदमी ने बेटी के साथ कुछ गलत किया है। इसके बाद महिला ने अपने पति को इसकी जानकारी दी।

Subscribe to get breaking news alerts

रिश्ते में लगता है दादा
7 साल की बच्ची के पिता का कहना है कि यह आरोपी मेरा चाचा लगता है और बच्ची बचपन से उसे बाबा-बाबा कहकर बुलाती है। लेकिन उसने रिश्ते को शर्मसार कर दिया। मामले की शिकायत सैनी कोतवाली में की गई। जिसके बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं बच्ची की हालत अब खतरे से बाहर है, लेकिन उसके मन में बहुत गहरा सदमा पहुंचा है।

और पढ़ें: कम उम्र में शादी ले रही है जान! डिप्रेशन और सुसाइड की शिकार हो रही हैं जवान होती बेटियां

भारत में भी Same-Sex मैरेज को मिलेगी कानूनी मान्यता? SC याचिका पर सुनवाई को तैयार