ब्लैक डायरी: 'ससुर' के साथ बहू ने पार कर दी रिश्ते की हर मर्यादा

| Dec 07 2022, 07:24 PM IST

ब्लैक डायरी: 'ससुर' के साथ बहू ने पार कर दी रिश्ते की हर मर्यादा

सार

पति काम के सिलसिले में ज्यादातर बाहर रहते हैं। वक्त नहीं देने की वजह से मैं घर में अकेली महसूस करती थी। एक दिन सौतेले ससुर के साथ हर मर्यादा को लांघ गई। कुछ दिन तो सब अच्छा लगा, लेकिन अब जीना मुश्किल हो रहा है। ये कहानी 36 साल की महिला का है। 

ब्लैक डायरी: अकेलापन की खीझ और पति पर गुस्से ने एक महिला को ऐसे मोड़ पर लाकर खड़ा कर दिया है जिससे बाहर निकलने का रास्ता उसे दिखाई नहीं दे रहा है। 36 साल की जेनी (बदला हुआ नाम) का रिश्ता सौतेले ससुर के साथ बन गया। तन्हाई से जूझ रही जेनी को जब एक पुरुष का साथ मिला तो वो हर मर्यादा लांघ गई। लेकिन अब वो पछतावे से भर गई है। उसे समझ नहीं आ रहा है कि पति के साथ रिश्ते को कैसे कायम रखे। आइए जानते हैं जेनी की पूरी कहानी और एक्सपर्ट की राय।

36 साल की जेनी की शादी को 8 साल हो चुके हैं। बतौर जेनी, उसके पति महीने में 15 से 20 दिन  काम के सिलसिले में घर से बाहर ही रहते हैं। इतना ही नहीं कोई संतान नहीं होने की वजह से भी जेनी अंदर से परेशान थी। पति के जाने के बाद वो घर में अकेली रहती थी। वो खुद को काफी अकेला महसूस करती थी। इसे लेकर पति से भी झगड़े हुए। लेकिन पति का यही जवाब होता था काम नहीं करूंगा तो घर कैसे चलेगा। वो कुछ बोल नहीं पाती थी। 

Subscribe to get breaking news alerts

जेनी ने बताया कि उसकी सास कम उम्र के पुरुष से दूसरी शादी करके दूसरे शहर में रहती है। एक दिन सौतेले ससुर किसी काम से उसके शहर आए और कुछ दिन के लिए उसके घर पर रुक गए। जेनी ने आगे बताया कि पति उनके आने के एक दिन बाद ही काम के सिलसिले में बाहर चले गए। रात के वक्त डिनर करने के बाद जेनी और ससुर के बीच काफी बातचीत हुई। फिर दोनों सोने चले गए। जेनी बताती हैं कि पता नहीं क्यों लेकिन उस रात उसके मन में सौतेले ससुर को लेकर गलत ख्याल बार-बार आ रहे थे। 

जेनी के मुताबिक, “अगले दिन मेरे ससुर किसी काम से बाहर निकले पर दोपहर बाद वापस लौट आए। लंच के बाद हमने काफी बातचीत की। तभी सौतेले ससुर का हाथ मेरे कंधे पर आ गया और उन्होंने पूछा कि कोई तकलीफ तो नहीं,  मुझे पता चला है कि स्टीव (बदला हुआ नाम) ज्यादातर बाहर ही रहता है। ये सुनकर मुझे रोना आ गया। मैं फूट पड़ी और अपना दर्द बयां कर दिया। उस रात पता नहीं कैसे हमारे बीच संबंध बन गया। दो दिन तक ऐसा चलता रहा। मुझे उनका साथ अच्छा लगने लगा था। मैं समाज की बनाई हर मर्यादा को तोड़ चुकी थी। फिर वो चले गए। दो-तीन महीने बाद उनका फिर से घर आना हुआ। हमारे बीच फिर शारीरिक संबंध बने।

हाल ही में मेरे सौतेले ससुर का कॉल आया और उन्होंने माफी मांगते हुए कहा कि मुझसे गलती हो गई। हमारे बीच जो कुछ भी हुआ है उसे भूल जाना। नहीं तो सबकुछ तबाह हो जाएगा। उनके फोन के बाद मुझे होश आया कि वाकई हमने जो किया वो कितना गलत था। अब यही बात मुझे खाए जा रही है। समझ नहीं आ रहा है कि पति से कैसे नजर मिलाऊं। कभी सोचती हूं कि उन्हें सब सच-सच बता दूं। आत्महत्या का भी ख्याल आता है। बताइए मैं क्या करूं?” 

एक्सपर्ट की राय-आपने जो किया उसके लिए सिर्फ आप जिम्मेदार नहीं हैं। इसके लिए आपके पति की बेरुखी और आपके ससुर भी बराबर के जिम्मेदार हैं। आपने अकेलेपन की वजह से जो कदम उठाया उसे सही तो नहीं ठहराया जा सकता पर कई बार मन की चाहत मर्यादा की दीवार तोड़ जाती है। अच्छी बात ये है कि अब आपको अपनी गलती का एहसास हो गया है। कहते हैं सच्चा पश्चाताप सारे मैल धो देता है। आपका मैल भी धुल चुका है। आपके लिए अच्छी बात ये है कि ससुर ने खुद ही कदम पीछे खींच लिए हैं और तीसरा कोई ऐसा नहीं जो आपको इस बात के लिए परेशान कर सके। इसलिए बेहतर होगा कि आप भी इस संबंध को बुरा सपना समझ कर भूल जाइए। पति को सच बताने से उनका आपसे और अपनी मां के साथ भी रिश्ता खराब हो सकता है। आत्महत्या किसी समस्या का समाधान नहीं। कोशिश कीजिए कि खुद को किसी काम में व्यस्त रखें। पति के साथ कहीं बाहर जाने का प्लान भी कर सकती हैं। इससे आप दोनों के रिश्तों में आया ठंडापन भी खत्म होगा और बुरे ख्यालों से भी छुटकारा मिलेगा।

(ब्लैक डायरी एशियानेट की एक ऐसी सीरीज है,जिसमें हम रिश्तों से जुड़े राज,समस्या के बारे में बताते हैं जिसे खुलकर लोग बता नहीं पाते हैं। इस सीरीज के माध्यम से जो लोग हमें अपनी कहानी बताते हैं, हम उनका नाम बदलकर आप तक लेकर आते हैं। इसके साथ एक्सपर्ट की राय भी देते हैं, ताकि समस्या का निदान हो सके।ब्लैक डायरी में सभी तस्वीरें सांकेतिक होती हैं। )

और पढ़ें:

22 साल की उम्र में हो गई थी 317 KG की, पति ने किया परेशान तो 226 KG कम कर किया गजब का ट्रांसफॉर्मेशन

ठंड में बढ़ जाता है हार्ट अटैक के मामले, लक्षण पहचान तुरंत पहुंचे डॉक्टर के पास